दुर्गूकोंदल। नईदुनिया न्यूज

ब्लॉक मुख्यालय दुर्गूकोंदल से पांच किमी दूरी ग्राम मेडो और कोदापाखा के मध्य एक काफी पुराना बडा तालाब है जो कांटा तालाब के नाम से मशहुर है। साल 2017-18 में दुर्गूकोंदल से बोकराटोला तक डामरीकरण साहू कुलकर्णी ठेकेदार द्वारा किया गया था, जो कि कांटा तालाब के पास अचानक मोड़ है जहां संकेत बोर्ड भी नहीं लगाया गया है। जो दुर्घटना का कारण बन जाता है।

चार माह पहले ग्राम एनहुर निवासी अपने नीजी काम से कोयलीबेडा बाइक में सवार होकर जा रहे थे। कांटा तालाब में अचानक मोड होने से अपना नियंत्रण खो बैठे और दुर्घटना का शिकार हो गये। दुर्घटना इतना जबरदस्त था कि बाइक चला रहे युवक का मौके पर ही मौत हो गई। एक ने अस्पताल में दमतोड़ दिया। कांटा तालाब के एक ओर गहरी खाई तथा खेत है। और एक ओर गहरी खाई तालाब है। जहां हमेशा पानी भरा रहता है।

कोदापाखा निवासी आयनुराम धु्‌रव ने बताया कि जुलाई माह में वाटिनटोला निवासी देवसाय कल्लो उसी गहरी खाई में बाइक सहित गिरकर बेहोश हालात में मिला जिसे तत्काल अस्पताल ले जाया गया। इससे उसकी जान तो बच गई लेकिन मानसिक रूप से पागलपन हो गया। समस्त क्षेत्रवासियों ने तालाब के दोनों ओर रेलिंग निर्माण कराने की मांग की है। इससे इस प्रकार की दुर्घटनाएं न हो।