रायपुर। नईदुनिया, राज्य ब्यूरो नान घोटाले में आईपीएस मुकेश गुप्ता और रजनेश सिंह पर दो एफआइआर दर्ज करने के बाद ईओडब्ल्यू ने तलब होने के लिए नोटिस भेजा है। ईओडब्ल्यू के एसपी कल्याण ऐलासेला ने बताया कि मुकेश गुप्ता और रजनेश सिंह का बयान दर्ज करना है।

दोनों अधिकारियों को नोटिस भेजा गया, लेकिन घर में नहीं होने के कारण नोटिस तामील नहीं हो पाया है। कल्याण ने बताया कि ईओडब्ल्यू के डीएसपी आरके दुबे को भी तीन बार नोटिस भेजा गया है। वे पिछले कई दिनों से दफ्तर में उपस्थित नहीं हो रहे हैं।

फोन टेपिंग के मामले में आरके दुबे ने कोर्ट में ईओडब्ल्यू के अधिकारियों पर दबाव देकर बयान दर्ज करने का आरोप लगाया था। इसके बाद यह चर्चा तेज हो गई कि ईओडब्ल्यू ने आरके दुबे को निलंबित कर दिया है।

हालांकि दो दिन बाद ही आइजी एसआरपी कल्लूरी ने स्पष्टीकरण दिया, जिसमें बताया कि आरके दुबे को निलंबित नहीं किया गया है। कोर्ट में बयान देने के बाद से ही दुबे दफ्तर नहीं आ रहे हैं।

फोन टेप करने की मददगार के घर छापा

मुकेश गुप्ता के साथ फोन टेपिंग में मदद करने वाली रेखा नायर के घर पर छापा मारने की चर्चा है। हालांकि ईओडब्ल्यू के आला अधिकारी छापा मारने की पुष्टि नहीं कर रहे हैं। ईओडब्ल्यू के एसपी कल्याण ने बताया कि रेखा नायर के नान से जुड़ा मामला नहीं है। अभी उनके घर पर हमारी टीम ने छापा नहीं मारा है। हालांकि यह चर्चा है कि रेखा नायर के खम्हारडीह स्थित आवास से सीडी और दस्तावेज जब्त किए गए हैं।