रायपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

नगर निगम सभी टंकियों को निर्धारित सीमा तक भर रहा है और वहां से पानी की सप्लाई रोजाना सुबह-शाम नियमित हो रही है। मगर बीच में हजारों लोग पंप लगाकर पानी खींच रहे हैं। यही वजह है कि निगम ने कुछ क्षेत्रों को चिन्हित किया और वहां रोजाना सुबह आधे घंटे के करीब बिजली कटौती की जा रही है। हालांकि ऐसे क्षेत्रों की संख्या सीमित है। 'नईदुनिया' ने बिजली कटौती की खबर को प्रमुखता से प्रकाशित कर बताया कि आखिर इसके पीछे वजह क्या है। समझाया कि पानी चोरी के बीच आखिरी छोर तक पानी पहुंचाने के लिए यह कटौती अनिवार्य हो गई है। तब निगमायुक्त शिव अनंत तायल ने सभी जोन आयुक्तों को निर्देश दिए कि वे मोटर पंप लगाकर पानी खींचने वालों के खिलाफ अभियान चलाकर कार्रवाई करें। यह कार्रवाई शुक्रवार से शुरू हो गई।

डंगनिया, कृष्णा नगर में घरों में निगम अमला जांच करने उतरा तो पांच पंप जब्त किए गए। जोन आयुक्त अरुण ध्रुव ने बताया कि कृष्णा नगर में लोगों द्वारा नलों में पंप लगाकर पानी खींचे जाने की शिकायत थी। जिन्होंने पंप लगाए थे, जिनके विरुद्ध कार्रवाई हुई, उनके नाम निगम ने सार्वजनिक भी किए। अगर आप भी पंप लगाकर पानी खींच रहे हैं तो तत्काल हटवा दें, निगम टीम आपके घर भी कार्रवाई के लिए पहुंच सकती है।

-------

गोकुल नगर, चिंगरी नाले की शुरू हुई सफाई

रायपुर। शहर में बारिश के समय जलभराव की समस्या से बचने के लिए नगर निगम महीने भर से नालों की सफाई में जुटा है। रिंग रोड से जुड़े दो बड़े नाले गोकुल नगर और चिंगरी नाला की सफाई के लिए सप्ताह भर से अभियान चलाया जा रहा है। शुक्रवार को गोकुल नगर नाले से 20 ट्रिप कचरा पोकलेन की मदद से निकाला गया। निगम आयुक्त शिव अनंत तायल के निर्देशानुसार बड़े नालों की सफाई के साथ ही शहर के छोटे नाले, नालियों की सफाई की जा रही है। निगम जोन 4 क्षेत्र से आकर बहने वाला नाला रामकृष्ण अस्पताल, कमल विहार, बोरिया रोड होते धरमनगर की ओर से गोकुल नगर नाले में मिलता है। एक टीम धरम नगर नाले तक सफाई में जुटी रही। जोन 5 अमला चिंगरी नाले की सफाई सप्ताह भर से कर रहा है। इस नाले में प्रोफेसर कालोनी अंतरराज्यीय बस स्टैण्ड और सुंदर नगर के नाले-नालियों का पानी जाकर मिलता है। साथ ही लाखे नगर चौक से रिंगरोड चौक तक बहने वाले दो बड़े नालो का पानी भी रिंग रोड होकर चिंगरी नाले में आकर मिलता है। जोन 2 क्षेत्र में नारायणा नाले तथा उससे जुड़ी नालियों की पिछले पखवाड़े भर से सफाई जारी है।