जबिलासपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

चुनाव खत्म होते ही फिर एक बार सीवरेज के बचे हुए काम को शुरू कराकर पूरा कराने की तैयारी निगम कर रहा है। इसके लिए फर्नीचर लाइन को तोड़कर वहां पंपिंग स्टेशन बनाने की तैयारी है। निगम यहां कभी भी कार्रवाई कर सकता है।

सीवरेज ऐसा प्रोजेक्ट है जो अब तक पूरा नहीं हुआ है। इसका सबसे प्रमुख काम पंपिंग स्टेशन बनाना शेष है। जवाली पुल के पास जमीन विवादित होने के कारण पंपिंग स्टेशन का काम रुक गया था। हाईकोर्ट से इस मामले में निगम के पक्ष में निर्णय आया है। ऐसे में अब जमीन खाली कराने की कवायद शुरू हो गई है। जिस जगह पर सीवरेज का काम होना है वहां फर्नीचर लाइन मौजूद है। व्यापारी यहां फर्नीचर बनाने और बेचने का काम करते हैं। ऐसे में पंपिंग स्टेशन बनाने के लिए उन दुकानों को तोड़ने की जरूरत है। निगम पहले ही व्यापारियों को नोटिस दे चुका है। ऐसे में अब तोड़फोड़ की कार्रवाई बची है। विधानसभा चुनाव की मतगणना होने के बाद यहां कभी भी कार्रवाई हो सकती है। इसे लेकर जमकर चर्चा है। उम्मीद की जा रही है कि 15 दिसंबर के बाद कभी भी फर्नीचर लाइन में तोड़फोड़ हो सकती है। जगह खाली कराने के बाद इसे सीवरेज ठेकेदार के सुपुर्द कर दिया जाएगा। इसके बाद पंपिंग स्टेशन बनाने का काम चालू हो जाएगा। इसके पूरा होते ही सीवरेज की बड़ी रुकावट दूर हो जाएगी। इसी तरह कोतवाली के सामने भी पाइप लाइन डालने के लिए जमीन की खोदाई शुरू हो जाएगी।

सीवरेज का काम यहां है शेष

शहर में सीवरेज की पाइप लाइन डालने का काम विनोबा नगर और कोतवाली के सामने बचा है। विनोबा नगर में अंडरग्राउंड खोदाई होनी है,जबकि कोतवाली के सामने जमीन के नीचे चट्टान आ गई है। जिसे तोड़कर अंदर पाइप डालना है। इन दो कार्यों के अलावा जवाली पुल के पास पंपिंग स्टेशन बनाना बचा है। इन कार्यों के पूरा होते ही शहर में सीवरेज प्रोजेक्ट भी समाप्त हो जाएगा।

हाईड्रोलिक टेस्ट के बाद खुलेगी पोल

शहर में सीवरेज प्रोजेक्ट पूरा होने के बाद काम की गुणवत्ता जांचने हाईड्रोलिक टेस्ट होना है। इस जांच के बाद ही पता चलेगा कि शहर के अंदर चली खोदाई में कहां क्या कमी है। कुछ कमी निकली तो उसे दूर करने के लिए फिर से सड़कों की खोदाई की जाएगी।

सीवरेज के तहत अब बहुत कम काम ही बचा है। जो शेष है उसका भी काम शुरू कराकर जल्द पूरा कराया जाएगा। इसके लिए सभी तरह की रुकावट जल्द दूर की जाएगी।

सौमिल रंजन चौबे

आयुक्त, नगर निगम