छुरा। नईदुनिया न्यूज

पांचवे अंतरराष्ट्रीय योग दिवस को सफल बनाने, योग के प्रति लोगों को जोड़ने व प्रधानमंत्री के विचार कि देश एवं प्रदेश में निरोग एवं स्वस्थ नागरिक की संकल्पना को जन जन तक पहुंचाने के उद्देश्य से विकासखंड में 15 से 17 जून तक विकासखंड स्तरीय प्रशिक्षण शिविर का शुभारंभ मंगल भवन में जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी एन आर मांझी ने किया।

सर्वप्रथम मां भारती के छाया चित्र पर पूजा अर्चना किए। पश्चात अतिथि स्वागत कयाराम यादव व योगाचार्य जागेश्वर ध्रुव ने किया। मुख्य अतिथि ने कहा कि शासन के मंशानुरूप देश के प्रत्येक नागरिक को निरोग रखने स्वस्थ रखने के उद्देश्य से कराए जा रहे इस आयोजन को हम सब सफल बनाने का संकल्प लें निरोगी जीवन सभी की कल्पना होती है। हम सब मिलकर स्वस्थ नागरिक स्वस्थ देश का निर्माण करें। मास्टर ट्रेनर संतराम कंवर, अर्जुन धनंजय सिन्हा, सहयोगी योगाचार्य मिथिलेश सिन्हा, हीरालाल साहू, जागेश्वर ध्रुव, नरेन्द्र साहू, रीतू साहू, संगीता पटेल ने योग की सभी विधाओं को प्रोटोकॉल के अनुसार प्रदर्शन करते हुए प्रशिक्षणार्थियों को अभ्यास कराया। अर्जुन धनंजय सिन्हा ने संगठन मंत्र, प्रार्थना, गायत्री मंत्र से प्रारंभ किया। संतराम कंवर ने सूक्ष्म व्यायाम ग्रीवा चालन, स्कंध चालन, कटिचक्रासन, घुटना चालन, खड़े होकर किए जाने वाले ताड़ासन, वृक्षासन, पाद हस्तासन, अर्ध चक्रासन, त्रिकोणासन का अभ्यास कराया। अर्जुन धनंजय सिन्हा ने बैठकर किए जाने वाले आसन दंडासन, भद्रासन, वज्रासन, अर्ध उष्ट्रासन, शश्कासन, सलभासन का अभ्यास कराया। संतराम कंवर ने पीठ के बल लेटकर करने वाले आसन सेतुबंध आसन, पवन मुक्तासन, उत्तानपाद आसन का अभ्यास कराया। योगाचार्य मिथलेश सिन्हा ने प्राणायाम कपालभाति, नाड़ी शोधन, शीतली भ्रामरी का योगाभ्यास कराया। योगाचार्य जागेश्वर ध्रुव ने ध्यान का प्रशिक्षण दिया। योगाचार्य हीरालाल साहू ने अंतरराष्ट्रीय योग दिवस को पूर्ण सफल बनाने के लिए संकल्प कराते हुए शांति पाठ कर प्रथम दिवस के योग प्रशिक्षण का समापन कराया। कार्यक्रम का संचालन व आभार व्यक्त अर्जुन धनंजय सिन्हा ने किया। प्रशिक्षण में नोहरलाल पटेल, खूबलाल सिन्हा, वीरेंद्र कुमार साहू, सोम प्रकाश साहू, दिनेश मरकाम, मनीराम साहू, सुनील राजपूत, भानुप्रताप यदु, खिलावन ध्रुव, नेमीचंद यादव, राजेश निषाद, रूपेश शर्मा, खेमू साहू, टुमन निषाद सहित लगभग 94 प्रशिक्षणार्थी शिक्षक गण उपस्थित हुए।