पाण्डुका/श्यामनगर। नईदुनिया न्यूज

अखिल भारतीय क्षत्रीय राजपूत समाज कोलिहामार जिला बालोद के सहकारी विपणन संघ में दौनिक वेतन भोगी के रूप में कार्यरत सुशांत सिंह राजपूत की 12 वर्षीय मंझली बेटी हनी सिंह राजपूत की मदद के लिए सामने आया है। हनी सिंह को दो साल से ब्लड कैंसर है। लेकिन गरीब पिता सुशांत और माता ममता राजपूत ने हिम्मत नहीं हारी और अपना सब कुछ बेटी के इलाज में अर्पण कर दिया। यहां तक कि जिस घर में रहते हैं उसे भी गिरवी रख दिया। इसकी जानकारी अखिल भारतीय क्षत्रीय महासभा बांकानेर गु्रप के प्रदेश उपाध्यक्ष महेन्द्र सिंह ठाकुर को हुई तो समाज के लोगों से संपर्क कर मदद के लिए अपील की। इस पर रविन्द्र सिंह एम प्रकाश इन्ड्रस्टीज रायपुर ने 5100 रुपये, महेन्द्र सिंह राजपूत ग्राम जोरातराई कुरूद ने 2000, इंदूभूषण सिंह रायपुर, राजेन्द्र सिंह परिहार, सुरेन्द्र ंिसह परिहार, माधव सिंह ठाकुर, प्यारे लाल सिंह ठाकुर, महेन्द्र सिंह ठाकुर ये सभी ने 500-500 रुपये की तत्कालिक सहायता दी। कुल 10102 रुपये बच्ची को इलाज के लिए न्यू संजीवनी कैंसर अस्पताल पचपेड़ी नाका रायपुर में उसकी माता ममता सिंह राजपूत को प्रदान किया। पीड़ित परिवार को आगे भी मदद देने का वचन दिया।

बच्ची को नहीं मिली समुचित सहायता

ब्लड कैंसर पीड़ित बेबी हनी सिंह के पिता सुशांत सिंह राजपूत ने बताया कि संजीवनी कोष से मात्र 150000 रुपये ही मिला जबकि गरीबी में जीने वाले इस परिवार को पांच से छह लाख रुपये मिलना चाहिए क्योंकि हर महीने बच्ची के इलाज के लिए 30 हजार रुपये लगते हैं। वहीं चीरायु के टीम ने स्कूल से बच्ची का समस्त बायोडाटा लेकर एक वर्ष पूर्व जो गायब हुई तो उसका अता पता ही नहीं चला। मदद में कुरूद के पप्पू सिंह राजपूत और कुरूद ब्लाक क्षत्रीय महासभा के अध्यक्ष थान सिंह राजपूत का योगदान प्रशंसनीय रहा।