रायपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। एक ओर पेट्रोल-डीजल के दाम लगातार बढ़ रहे हैं, दूसरी ओर गैस सिलेंडरों की बढ़ती कीमतों ने उपभोक्ताओं को हलाकान कर दिया है। गैस सिलेंडर की कीमत इन दिनों 955 रुपये तक पहुंच गई है। बीते पांच महीने से इसकी कीमत लगातार बढ़ रही है। गैस एजेंसी संचालकों का कहना है कि बाजार में इसका यह प्रभाव देखने को मिल रहा है। गैस सिलेंडर की बिक्री में 20 फीसद तक गिरावट आ गई है।

अमूमन बिक्री में गिरावट गर्मियों के दिन में आती है, जो इन दिनों आ गई है। इसके चलते वर्तमान में नए गैस कनेक्शन की दर में 500 रुपये तक की बढ़ोतरी हो गई है। कीमतों में बढ़ोतरी के बाद भी गैस सब्सिडी का न मिलना परेशानी का सबब है। बताया जा रहा है कि सब्सिडी समय पर न मिलने की शिकायत लेकर जाने वाले उपभोक्ताओं की भीड़ एजेंसी में देखी जा सकती है। जिन उपभोक्ताओं ने सब्सिडी बंद करा दी थी, वे फिर सब्सिडी शुरू करने के लिए आवेदन लगा रहे हैं।

योजना के तहत भी नहीं बिक पा रहे सिलेंडर

गैस एजेंसी संचालकों का कहना है कि इन दिनों गैस सिलेंडर की बढ़ती कीमत योजना पर भी पड़ रही है। ग्रामीण क्षेत्रों में योजना के तहत सिलेंडर की बिक्री नहीं हो पा रही है।

पेट्रोल 81 और डीजल 79 के करीब पहुंचा

बीते हफ्ते टैक्स घटाने के बाद इस हफ्ते पेट्रोल-डीजल की कीमतों में जबरदस्त तेजी आ गई है। पेट्रोल की कीमत 81 रुपये प्रति लीटर के करीब पहुंच गई है, डीजल 79 के करीब है। शनिवार 13 अक्टूबर को पेट्रोल 80.48 रुपये प्रति लीटर और डीजल 78.65 रुपये प्रति लीटर रहा। बाजार के जानकारों का कहना है कि आने वाले दिनों में इनकी कीमतों में और बढ़ोतरी होने वाली है।