0 लखनपुर व अंबिकापुर से पहुंचना पड़ा पुलिस टीम को

0 एक वाहन को थाने ले जाने के बाद शुरू हो सका आवागमन

0 जाम खुलने के बाद भी यातायात बहाल कराने मौजूद रहा पुलिस बल

अंबिकापुर । नईदुनिया प्रतिनिधि

अंबिकापुर-बिलासपुर राष्ट्रीय राजमार्ग पर घुनघुट्टा नदी पुल के नजदीक दो ट्रेलर की आमने-सामने की टक्कर के बाद मार्ग में लंबा जाम लग गया। दुर्घटनास्थल के दोनों ओर छोटी-बड़ी वाहनों की लंबी कतार लग गई। यात्री वाहन भी जाम में फंस गए। सूचना पर अंबिकापुर से यातायात पुलिस की टीम भी मौके पर पहुंची। दुर्घटनाकारित एक ट्रक को लखनपुर थाने भिजवाया गया और धीरे-धीरे जाम में फंसी एक-एक वाहनों को पार कराया गया। लगभग एक घंटे बाद मार्ग में आवागमन सुचारू रूप से हो सका।

जानकारी के मुताबिक गुरूवार शाम लगभग चार बजे बिलासपुर मुख्यमार्ग में मेंड्राकला से लगे घुनघुट्टा नदी पुल के पास दो ट्रेलरों की आमने-सामने भिड़ंत हो गई। हादसे में दोनों ट्रेलरों के चालक और सवारों को तो गंभीर चोट नहीं आई, लेकिन दोनों दुर्घटनाग्रस्त वाहने बीच सड़क में ही आड़ी-तिरछी खड़ी रही। वाहनों के रास्ते से निकलने के लिए अगल-बगल जगह नहीं होने के कारण देखते ही देखते दुर्घटनाग्रस्त स्थल के दोनों ओर मालवाहकों, यात्री बसों के साथ छोटी वाहनों की भी कतार लग गई। जाम के कारण यात्री परेशान होने लगे। जबतक लखनपुर पुलिस मौके पर पहुंचती, तबतक मार्ग में आवागमन पूरी तरह से अवरूद्घ हो गया था। इधर सूचना मिलते ही अंबिकापुर से यातायात प्रभारी भारद्वाज सिंह के नेतृत्व में अमला भी मौके पर पहुंच गया। उधर से लखनपुर पुलिस की टीम भी दुर्घटनाग्रस्त स्थल पर पहुंच गई। बीच सड़क में टकराई दो ट्रेलरों में से एक को तत्काल थाने ले जाया गया। दूसरी वाहन चलाकर ले जाने लायक नहीं थी, इसलिए उसे सड़क किनारे कर दिया गया। वाहनों को सड़क से हटा देने के बाद भी वाहनों की लंबी कतार के कारण लगभग एक घंटे तक पुलिस बल को मौके पर ही मौजूद रहना पड़ा। धीरे-धीरे एक-एक वाहनों को पार करा मार्ग में यातायात सुचारू रूप से बहाल कराया गया। उल्लेखनीय है कि बिलासपुर मार्ग में अंबिकापुर से शिवनगर तक नवनिर्माण व चौड़ीकरण का काम चल रहा है। सड़क निर्माण के कारण कई स्थानों पर पूरी सड़क खोद दी गई है। दो दिन पहले हुई झमाझम बारिश से सड़क कीचड़ में तब्दील हो गई थी। मौसम खुलते ही मिट्टी, मुरूम के सूख जाने से धूल के गुबार ने रहवासियों के साथ यात्रियों को भी परेशान करना शुरू कर दिया है। कई स्थानों पर सड़क भी उबड़-खाबड़ हो गई है। इसी मार्ग से कोल परिवहन में लगी भारी वाहनों की आवाजाही भी होती रहती है। जिसकारण दुर्घटना की संभावना भी बनी रहती है। यही वजह है कि पुलिस द्वारा भी अब गति सीमा का पालन कराने का प्रयास शुरू कर दिया गया है।