0 मेडिकल कॉलेज बनने के बाद एक वर्ष में हुए सात सफल ऑपरेशन

फोटो-9 मेडिकल कॉलेज अस्पताल

अंबिकापुर । नईदुनिया प्रतिनिधि

जिला अस्पताल के चिकित्सा महाविद्यालय से संबद्घ होने के बाद स्तन कैंसर का ऑपरेशन तो सर्जरी विभाग के चिकित्सक कर रहे हैं, लेकिन ऑपरेशन कर निकाली जाने वाली गांठ या किसी अन्य ऊतकों की सूक्ष्म जांच सुविधा नहीं होने से कैंसर के प्रकार को जानने ऐसे अवशेषों की हिस्टोपैथोलॉजी जांच मुंबई से करानी पड़ रही है। इसकी जांच के लिए आवश्यक संसाधन मेडिकल कॉलेज में उपलब्ध होने की जानकारी सूत्र देते हैं, लेकिन स्थानाभाव से जांच महानगरों में हो रही है। बीमारी की विशेषताओं को पहचानने हिस्टोपैथोलॉजी जांच जरूरी है। इससे संदिग्ध ऊतक में कैंसर की विशेषता का पता भी चलता है। इसे बायोप्सी रिपोर्ट भी वर्णित किया जाता है।

मेडिकल कॉलेज अस्पताल में चालू वर्ष में स्तन कैंसर के सात सफल ऑपरेशन किए गए हैं। स्तन की कोशिकाओं में अनियंत्रित वृद्घि को नजरअंदाज करने से यह कैंसर का रूप ले लेती है। बीते 5 दिसंबर को मेडिकल कॉलेज के सर्जरी विभाग के प्रोफेसर चिकित्सक डॉ.एसपी कुजूर और डॉ.पीआर शिवहरे ने फूलमती नाम की एक महिला के स्तन से ऑपरेशन कर लगभग एक पाव का गांठ निकाला, जो पूरी तरह से कैंसर का रूप ले चुका था। एक वर्ष से स्तन में रहने वाले असहनीय दर्द से महिला परेशान रहती थी। दो घंटे से अधिक चले ऑपरेशन के बाद गांठ को निकालने में सर्जन सफल हुए, जिससे महिला राहत महसूस कर रही है। इस गांठ की हिस्टो पैथोलॉजी जांच के लिए कोरियर से मुंबई भेजा गया है, ताकि कैंसर के रूप का पता चल सके। विशेषज्ञ चिकित्सक बताते हैं कि स्तन में गांठ या ऐसी किसी शिकायत के सामने आने पर इसकी त्वरित जांच करानी चाहिए।

मैमोग्राफी से शुरुआती पहचान

मैमोग्राफी से स्तन कैंसर के शुरुआती दौर का भी पता चलता है। शरीर को सुडौल बनाने गर्भ को रोकने दवाओं का जरूरत से ज्यादा उपयोग, अधिक उम्र में पहला बच्चा होने, स्तनपान नहीं कराने के अलावा अनियंत्रित जीवनशैली स्तन कैंसर के प्रमुख कारण हैं। स्तन कैंसर अनुवांशिक रूप से संभव होना चिकित्सक बताते हैं। स्तन कैंसर होने पर पहले या दूसरे चरण में ही इसका पता चलने से सही समय पर इलाज संभव है।

शरीर के किसी अंग में होने वाली कोशिकाओं की अनियंत्रित वृद्धि कैंसर का प्रमुख कारण होती है। शरीर की आवश्यकता अनुसार यह कोशिकाएं बंट जाती है, लेकिन जब यह लगातार बढ़ती है तो कैंसर का रूप ले लेती है। स्तन कोशिकाओं में होने वाली अनियंत्रित वृद्धि, स्तन कैंसर का मुख्य कारण है। कोशिकाओं में होने वाली लगातार वृद्धि एकत्र होकर गांठ का रूप ले लेती है, जिसे कैंसर ट्यूमर भी कहते हैं।

डॉ.पीआर शिवहरे

सर्जरी विभाग, मेडिकल कॉलेज अस्पताल