मारेंगा। तोकापाल ब्लाक की 19 महिला मजदूरों ने छह माह का मेहनताने ठेकेदार द्वारा नहीं देने का आरोप लगाया है। हांलाकि ठेकेदार ने इसका खंडन करते हुए महज दो या तीन दिन का ही भुगतान शेष होना बताया है।

महिला मजदूर शांति, सोमारी, लखमी, धनाय, लीमबति, बुधरी, अनीता, सोनमति, पार्वती, सुरबाली, पार्वती सरकार, गीता, शांति व अन्य ने बताया कि उन्होंने नगर निगम अंतर्गत नाली निर्माण में फरसगांव निवासी सौरव नामक ठेकेदार द्वारा करवाए जा रहे नाली निर्माण में कुली का काम किया था। आज तक इन्हें मजदूरी नहीं मिली है।

महिला श्रमिको ने बताया कि वे ऑटो से रोजाना 40 रूपए खर्च कर जगदलपुर काम करने जाया करते थे। 175 रूपए प्रतिदिन के पगार पर उनका पखवाड़े भर का रकम लेना बाकी है। काम पूरा होने पर ठेकेदार फरसगांव चला गया और पेमेंट के लिए आज दुगां कल दुंगा कहकर टालमटोल कर रहा है। उन्होंने यह भी बताया कि ठेकेदार के मोबाइल पर फोन करने पर जगदलपुर से ही पेमेंट करवा देने की बात कही जाती है।

श्रमिकों को बताया गया

'उपचारार्थ विशाखापटनम में रहने के कारण मजदूरों का पेमेंट नहीं किया जा सका। पखवाड़े भर की पेमेंट रोकने का आरोप गलत है। एक या दो दिन का ही भुगतान बाकी है। मेरे द्वारा मजदूरों को सूचना दी गई थी वापस लौटने पर भुगतान हो जाएगा। उसके बावजूद भी बेबुनियाद आरोप लगाया जा रहा है।'

-सौरव शुक्ला, ठेकेदार