दंतेवाड़ा। नईदुनिया प्रतिनिधि

विधानसभा चुनाव ने शैक्षणिक कलेंडर को प्रभावित किया है। पढ़ाई में पिछड़ने के साथ अर्द्घ वार्षिक परीक्षा की तिथियां भी आगे सरक गई। कोर्स पूरा करने एक्स्ट्रा क्लासेस ली जा रही है। इसकी समीक्षा अद्घवार्षिक परीक्षा परिणाम के साथ होगी।

जिले के सरकारी स्कूलों में दिसंबर के पहले सप्ताह तक करीब 80 फीसदी ही हो पाई है। जबकि तय कलेंडर के अनुसार अब तक अर्द्घवार्षिक परीक्षाएं होने के साथ ही कोर्स का रिवीजन शुरू होना था। कोर्स पिछड़ने के पीछे की वजह शिक्षक चुनाव कार्य में शिक्षकों की संलिप्ता और स्कूल भवन में मतदान होना बता रहे हैं। शिक्षकों का कहना है कि चुनाव ड्यूटी के चलते अनेक शिक्षक नियमित रूप से बच्चों को शिक्षा नहीं दे पाए। वहीं स्कूल भवनों को भी मतदान के लिए आरक्षित कर दिया गया था। शिक्षकों के नियमित स्कूल नहीं पहुंचने से कोर्स करीब 20-25 प्रतिशत पिछड़ गया है। वहीं कलेंडर के मुताबिक अर्द्घवार्षिक परीक्षाएं भी अब तक शुरू नहीं हो पाई है। कोर्स भी पूरा नहीं हो पाया है। विभागीय अधिकारियों के मुताबिक दिसंबर माह में कोर्स पूरा कर अर्द्घ वार्षिक परीक्षाएं लेनी थी। इसके बाद प्रायोगिक और अतिरिक्त कक्षाओं के साथ रिवीजन करवाना था। लेकिन अब तक कोर्स ही पूरा नहीं हो पाया है। सूत्रों की माने में जिले में अब तक 80 प्रतिशत ही कोर्स पूरा हो पाया है। इसके लिए शिक्षक और अधिकारी विधानसभा चुनाव को जिम्मेदार बता रहे हैं। शिक्षकों की माने तो चुनावी ड्यूटी में अधिकतर शिक्षकों को संलग्न किया गया था। एकल शिक्षकीय वाले स्कूलों में इस दौरान पढ़ाई पूरी तरह ठप रही और कोर्स पूरा नहीं हो पाया। जानकारी के मुताबिक मतगणना के बाद दिसंबर माह में ही बोर्ड कक्षाओं की अर्द्घवार्षिक परीक्षाएं ली जाएगी। इसके बाद अन्य कक्षाओं की परीक्षाएं जनवरी माह में होगी।

अर्द्घवार्षिक परीक्षा के बाद होगी समीक्षा

जिले में संचालित सरकारी स्कूलों में पिछड़े कोर्स को पूरा करने एक्स्ट्रा क्लासेस शुरू कर दी गई है। यह क्लासेस अंतिम पीरियड के बाद संबंधित विषय विशेषज्ञ शिक्षक ले रहे हैं। जिसकी समीक्षा प्रतिदिन संस्था प्रमुख द्वारा किया जा रहा है। बताया गया कि स्कूलों की समीक्षा जिला शिक्षाधिकारी अर्द्घवार्षिक परीक्षा के बाद करेंगे। यदि कोर्स पूरा करने और अर्द्घवार्षिक परीक्षा के परिणाम में कोई कमी आई तो संबंधितों के खिलाफ कार्रवाई होगी।

---

एक नजर में

प्रायमरी स्कूल-569

मिडिल स्कूल-230

हाई-हायर सेकेंडरी-57

कुल विद्यार्थी-59357

---