दंतेवाड़ा। नईदुनिया प्रतिनिधि

मंगलवार को होने वाली मतगणना की तैयारी प्रशासन ने पूरी कर ली है। डाइट भवन में मतगणना सुबह आठ बजे से शुरू होगी। इस दौरान पारदर्शिता के साथ सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम रहेंगे। गणना के दौरान प्रत्याशी अभिकर्ताओं को अधिकारी पूरी तरह संतुष्ट करने के बाद ही गणना की घोषणा करेंगे। यदि कोई आपत्ति दर्ज कराएगा तो तत्काल उसका निराकरण होगा।

शनिवार को कलेक्टोरेट में जिला निर्वाचन अधिकारी सौरभ कुमार ने प्रत्याशी और राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों की एक बैठक ली। इसमें बताया कि मतगणना की तैयारी कर ली गई है। निष्पक्ष और पारदर्शितापूर्ण गणना होगी। अधिकारी ने बताया कि गणना के दौरान इवीएम की सील तोड़ने से लेकर परिणाम की घोषणा सभी प्रत्याशियों के प्रतिनिधियों के समक्ष होगी। यदि किसी को कोई आपत्ति हो या गणना में किसी तरह की त्रुटि दिखे तो इसका तत्काल निराकरण होगा। इसके बाद ही गणना का परिणाम घोषित किया जाएगा।

मीडिया सेंटर भवन से बाहर

मतगणना के दौरान स्ट्रांग रुम (डाइट भवन) के बाहर राजनीतिक दलों के प्रतिनिधि और मीडियाकर्मियों के बैठने की व्यवस्था होगी, जहां से मीडिया कर्मियों को एक निश्चित संख्या और तय स्थल तक भीतर जाने अधिकारी अनुमति देंगे। इस दौरान कैमरे से फोटो और वीडियो ले सकेंगे लेकिन मोबाइल फोन की अनुमति नहीं होगी। वीडियो- फोटोग्राफी के लिए ट्रायपोड का उपयोग भी प्रतिबंधित होगा। मतगणना के प्रत्येक चरण के बाद परिणाम की घोषणा लाउड स्पीकर से की जाएगी। इसके बाद इसकी प्रति रिटर्निंग अफसर तय प्रारूप में मीडिया, आकाशवाणी और दूरदर्शन को उपलब्ध कराएंगे।

पर्ची से होगी एक बूथ की मतगणना

मतगणना के दौरान सबसे पहले डाक मतपत्रों की गणना होगी। इसके बाद वीवीपैट पर्ची और फिर इवीएम में पड़े वोट की गिनती की जाएगी। चर्चा में जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि दंतेवाड़ा विधानसभा में 150 डाक मतपत्र दिए गए थे। इनमें से अब तक 88 डाक मतपत्र कार्यालय को प्राप्त हो चुके हैं। शेष का मतगणना पूर्व तक इंतजार है। इसी तरह विस के 273 बूथों में से किसी एक बूथ में पड़े वोटों की गिनती वीवीपैट की पर्चियों से भी होगी। इस बूथ का चयन लॉटरी पद्घति से मतगणना के दौरान सभी अभिकर्ताओं के सामने होगा। वीवीपैट पर्ची से गणना के बाद अन्य बूथों के इवीएम से मतगणना की जाएगी।

--