जगदलपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

इंद्रावती नदी किनारे विशाल लक्ष्मीनारायण मंदिर बाहर मठ में चार दिवसीय अखंड महामंत्र जाप अनुष्ठान गुरुवार शाम प्रारंभ हुआ, जिसमें बस्तर की 20 गांवों की टोलियों के अलावा ओडिशा के कटक और रायगढ़ा की मंडली भी शामिल हुई हैं। इनके रहने- खाने की व्यवस्था शहर के भक्तों द्वारा की गई है। यह अनुष्ठान का चौथा वर्ष है।

श्रीलक्ष्मीनारायण मंदिर की नारायण सेवा समिति द्वारा यह अनुष्ठान आयोजित किया जा रहा है। गुरूवार को महादेव घाट से कलश यात्रा निकाली गई थी। मंदिर के सामने बनाए गए यज्ञशाला में भगवान राम, माता सीता आदि की तस्वीरें रखी गई हैं और इनके सामने लगातार पूजा- पाठ जारी है। विभिन्न गांवों से आई मंडलियां बाकायदा नृत्य करते हुए हरे राम, हरे कृष्ण का निरंतर जाप कर रही हैं। जाप लगातार 48 घंटे तक जारी रहेगा। अनुष्ठान में शामिल होने दरभा, कोटमसर, चिंगपाल, नेगानार, खम्हारगांव, कोपर, टोपर, नगरनार, चोकावाड़ा, कोदाभाठा, लेण्ड्रा के अलावा बंगीय समाज जगदलपुर की टीमें पहुंची हैं। रात्रि में कटक और रायगढ़ा की मंडली महामंत्र का जाप कर रही है। नारायण सेवा समिति के प्रमुख व मंदिर के पुजारी कृष्णकुमार तिवारी बताते हैं कि हर साल मंडलियों की संख्या बढ़ रही है। आयोजन को संपन्न कराने में शहरवासियों का भरपूर सहयोग मिल रहा है। अनुष्ठान का समापन रविवार को हवन यज्ञ व महाभंडारा के साथ दोपहर दो बजे होगा।