जगदलपुर। चिंतागुफा कैंप में एक आरक्षक ने शुक्रवार सुबह गोली मारकर आत्‍महत्‍या कर ली। इस घटना से कैंप में हड़कंम मच गया। आरक्षक द्वारा खुद को गोली मारने के बाद मौके पर मौजूद अन्‍य जवान उसे उपचार के लिए अस्पताल ले जाने की तैयारी कर रहे थे कि उसने दम तोड़ दिया। जवान ने आत्‍महत्‍या क्‍यों की इस बात की पुष्टि नहीं हो पाई है।

एडिशनल एसपी ने बताया कि आरक्षक 30 वर्षीय सोयम रमेश ने चिंतागुफा कैंप में शुक्रवार सुबह टॉयलेट के पास अपनी सर्विसगन से खुद को गोली मार ली। गोली की आवाज सुनते ही आसपास मौजूद जवान व कर्मचारी घटनास्थल के पास पहुंचे। जहां जवान लहूलुहान हालत में था।

घायल को अस्पताल ले जा पाते, इससे पहले ही उसने दम तोड़ दिया। जवान ने आत्महत्या क्यों की इस बात की जानकारी अब तक किसी को मालूम नहीं है। अधिकारियों का कहना है कि डीआरजी कि जिस टीम में सोयम रमेश काम कर रहा था वह टीम 2 दिन पहले ही छुट्टी से लौट कर आई थी।

जवान की आत्महत्या करने की जांच शुरू कर दी गई है। वही परिजनों से लेकर उनके साथियों को भी इस मामले को लेकर जानकारी लेने की बात कही जा रही है।