जगदलपुर। दो साल पहले तक जंगलों में भटकने वाले आत्मसमर्पित नक्सली दंपति कोसी और लक्ष्मण के घर में इन दिनों खुशियां छाई हैं, चूंकि कोसी ने एक पुत्र को जन्म दिया है। नक्सलियों के मिलिशिया सदस्य रहे पूर्व नक्सली लक्ष्मण-कोसी की इच्छा है कि उनका पुत्र पुलिस का बड़ा अफसर बने। मंगलवार को महारानी अस्पताल में जन्मे बालक की सेहत अच्छी है।

दरभा ब्लॉक के भडरीमऊ निवासी लक्ष्मण नक्सलियों का मिलिशिया सदस्य था। कोसी भी इसी दल की सदस्य थी। जंगल में इन दोनों के बीच मोहब्बत का परवान चढ़ा और दोनों ने पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया। वर्ष 2015 में तत्कालीन आईजी एसआरपी कल्लूरी ने दोनों की बड़े धूमधाम के साथ जगदलपुर के हाता मैदान में शादी कराई थी।

मंगलवार को कोसी ने महारानी अस्पताल में एक बालक को जन्म दिया है। बेटे के आने से खुश कोसी और लक्ष्मण ने बताया कि वे अपने बच्चे की पढ़ाई पर पूरा ध्यान देंगे। वे चाहते हैं कि उनका पुत्र बड़ा होकर पुलिस का बड़ा अधिकारी बने। समाज की मुख्यधारा में लौटे नक्सल दंपति अब हिंसा को हर मायने में गलत ठहरा रहे हैं। इधर कोसी के साथ अस्पताल पहुंचे। परिजन चाहते हैं कि कोसी और लक्ष्मण का बेटा इंजीनियर बने।