सक्ती।नईदुनिया न्यूज। एसडीएम युगल किशोर उर्वशा ने आज जनपद पंचायत कार्यालय सक्ती का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान 20 कर्मचारी कार्यालय से अनुपस्थित मिले। सभी को कारण बताओ नोटिस जारी कर जवाब मांगा गया है। एसडीएम ने कहा कि अगर कोई कर्मचारी बिना सूचना के अनुपस्थित रहेगा तो उनका वेतन भी काटा जाएगा।

आज एसडीएम ने सुबह 11 बजे जनपद कार्यालय का आकस्मिक निरीक्षण किया इस दौरान कु. अकांक्षा सिन्हा, संतोष सोनी, अन्नपूर्णा कसेर, पीयूष पाण्डेय, जितेन्द्र यादव, सुरेन्द्र साहू, शांतिलाल राठौर, शैलेन्द्र साहू, धरनीधर पटेल, रागनी मेहरा, प्रतिमा साहू, हेमलता साहू, जगनारायण रात्रे, विमल कसेर, देवहुती कोर्राम, सत्यनारायण सिदार, राजेश्वरी यादव, लच्छन सिंह, केके भोई, शहनाज लेखापाल मनरेगा अनुपस्थित रहे। जिस पर एसडीए सक्ती युगल किशोर के द्वारा गहरी नाराजगी व्यक्त करते हुए जनपद सीईओ को चेतावनी दी कि निर्धारित समय पर सभी कर्मचारी पहुंचे और पूरे ड्यूटी टाइम कार्यालय में रहे। अगर कोई कर्मचारी समय पर नहीं पहुंचते या पहले घर चले जाते हैं तो उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। अनुपस्थित कर्मचारियों को कारण बताओ नोटिस जारी कर जवाब मांगा गया है। इन सभी कर्मचारियों को पहली समझाइश देकर कहा गया कि दुबारा अनुपस्थित मिले तो वेतन रोकने की कार्रवाई की जाएगी। मनरेगा के लेखापाल के तीन महीने से अनुपस्थित होने की जानकारी दी गई,जबकि उसकी हाजरी रजिस्टर में उपस्थिति दर्ज कर दी जाती थी। जबकि कुछ दिन पूर्व ही उपस्थिति पंजी की फोटो ली गई थी, जिसमें लगभग एक माह से लेखापाल की उपस्थिति दर्ज नही थी, फिर उपस्थिति पंजी को कुछ दिन बाद उसमें लेखापाल द्वारा हस्ताक्षर कर दिया था। इस संबंध में एसडीएम को जानकारी प्राप्त हुई तो उन्होंने सीईओ जीपी साहू को निर्देश दिया कि उन्हें तुरंत निलंबित करें। एसडीएम ने कहा कि एक जुलाई से कार्यालय में सभी बायो मैट्रिक से में उपस्थिति दर्ज करे और उसी हिसाब से वेतन बनाए।

उपस्थिति रजिस्टर लेकर बैठे तो मची हड़कंप

एसडीएम कार्यालय में उपस्थिति पंजी लेकर बैठ गए और पंचायत इंस्पेक्टर को निर्देश दिया कि जो भी कर्मचारी पहुंचे उन्हें हस्ताकर के लिए उनके पास भेजा जाए। विलंब से पहुंचे कर्मचारियों को जानकारी हुई तो उनके पैरों तले जमीन खिसक गई। वे किसी तरह एसडीएम के पास पहुंचे और अपनी समस्याएं बताने लगे। जिस पर उन्होंने कहा कि अगर एक-दो घंटें लेट आएं तो लोगों को परेशानी हो रही है। इसलिए समय पर कार्यालय पहुंचे। उन्होंने 11 बजे राष्ट्रगान के बाद काम शुरू करने की बात भी कही।