0.किशोरी को झांसा देकर दिल्ली में बेचने का है आरोप

फोटो 14 जेएसपी 8 : गिरफ्तार आरोपी महिला।

पत्थलगांव नईदुनिया न्यूज। करीब 15 माह पुराने मानव तस्करी के मामले में पुलिस ने एक महिला को गिरफ्‌तार किया है। उस पर नाबालिग युवती को बहला-फुसलाकर दिल्ली ले जाने और उसे बेच देने का आरोप है। पुलिस द्वारा आरोपी महिला को गिरफ्‌तार कर न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत किया गया जहां से उसे जेल भेज दिया गया है। मामले की जानकारी देते हुए थाना प्रभारी नरेन्द्र कुमार त्रिपाठी ने बताया कि 17 दिसंबर 2016 को पत्थलगांव थानांतर्गत ग्राम शिवपुर के बथानपारा निवासी 40 वर्षीय व्यक्ति ने अपनी नाबालिग पुत्री के स्कूल से लापता होने को लेकर शिकायत दर्ज कराई थी। उसकी पुत्री गाला हाईस्कूल की कक्षा 10 में पढ़ती थी। शिकायत में प्रार्थी ने अज्ञात व्यक्ति द्वारा उसकी पुत्री को अज्ञात व्यक्ति द्वारा बहला-फुसलाकर अपहरण करने का आरोप लगाया था। उसकी रिपोर्ट पर पुलिस द्वारा धारा 363 भादवि के तहत अपराध पंजीबद्ध कर मामले की विवेचना की जा रही थी। थाना प्रभारी ने बताया कि विवेचना के दौरान सरगुजा जिले के सीतापुर थानांतर्गत ग्राम नकना पंचायत महेशपुर निवासी कुमारी नीतू उर्फ रीतू पिता नारायण सिंह पावले उम्र 20 वर्ष द्वारा नाबालिग युवती को बहला-फुसलाकर दिल्ली ले जाने और आनंद नगर में बेचने की बात सामने आई। जिसके बाद पुलिस द्वारा युवती को 2016 में ही दिल्ली से बरामद कर लिया गया था। उन्होंने बताया कि नाबालिग पीड़िता के कथन से आरोपी महिला के विरूद्ध प्रकरण में धारा 370 का अपराध घटित करना पाए जाने से यह धारा भी शामिल कर ली गई। उन्होंने बताया कि पुलिस द्वारा आरोपी महिला की गिरफ्‌तारी के लिए मुखबिरों को सतर्क किया गया था परंतु वह 2 दिसंबर 2016 से ही अपनी गिरफ्‌तारी के डर से अपने निवास से नदारद थी और छिपती फिर रही थी। 13 फरवरी को मुखबिर से आरोपी महिला के पत्थलगांव बसस्टैंड पर बाहर जाने के लिए बस के इंतजार में बैठे होने की सूचना मिली। सूचना पर सहायक उपनिरीक्षक डी आर भगत,आरक्षक सतीश मिंज,आरक्षक मनोज टो'पो एवं आरक्षक राजेन्द्र राजे के साथ पुलिस बल बस स्टैंड भेजा गया। यहां घेराबंदी कर महिला को गिरफ्‌तार किया गया। आरोपी महिला को न्यायिक मजिस्टे्रट प्रथम श्रेणी के समक्ष प्रस्तुत किया गया जहां से उसे न्यायिक हिरासत में जिला जेल जशपुर भेज दिया गया है।

--------------