पखांजूर। नईदुनिया न्यूज

लोकसभा चुनाव के दूसरे चरण की मतदान पखांजूर क्षेत्र में शांतिपूर्ण संपन्न हुआ। मतदाता चिलचिलाती धूप की परवाह किए बिना ही अपने घरों से निकल कर मतदान केन्द्र पहुंचे और मतदान किया। वहीं शहरी और ग्रामीण इलाकों में मतदान सुबह सात बजे से शाम पांच बजे तक का समय है। वहीं बात नक्सल प्रभावित क्षेत्र है जहां पर सुबह सात बजे से दोपहर तीन बजे तक मतदान करने का समय निर्वाचन आयोग ने आदेश दिया था इस दौरान लोग बढ़-चढ़कर मतदान में हिस्सा ले ले रहे हैं। बता दें की लोकतंत्र के महापर्व में इस बार पुराने मतदाताओं के साथ पहली बार मतदान कर रहे युवा वर्ग ने भी मतदान पर्व में बढ़ चढ़कर हिस्सा ले रहे हैं।

वहीं खबर बनाते तक नक्सल इलाके में शांतिपूर्ण तरीके से चुनाव संपन्न कराना जिला प्रशासन के लिए बड़ी चुनौती रहा। चुनाव में बड़े पैमाने पर सुरक्षा बलों की जवानों तैनात किया गया था। विधानसभा और लोक सभा चुनावों में नक्सलियों की सक्रियता दिखाते हुए चुनाव बहिष्कार के बैनर भी लगाए गए व सड़कों पर पर्चे भी फेंके गए। और सुरक्षा बलों पर हमला करने में वे आगे रहे हैं। नक्सली हमले में अभी तक कई जवानों और कर्मियों की जान भी जा चुकी है। प्रतापपुर थाना क्षेत्र में मतदान जारी है। मोहला गांव के भी लोग पांच किलोमीटर चलकर प्रतापपुर मतदान केंद्र में आकर मतदान कर रहे हैं देखने को मिलता है कि लोगों के अंदर मतदान के प्रति बहुत उत्साह है और बहुत भारी मात्रा में जनता इस में भाग ले रही है यह क्षेत्र उस घटना से तालुकात रखते हैं जहां चार अप्रैल 2019 को सीमा सुरक्षा बल और माओवादी के बीच मुठभेड़ हुए थे जिस में चार जवान शहीद और दो जवान गंभीर रूप से घायल हुए थे इसके बाद देखा जाता है की नक्सलवाद के बुलेट के सामने मतदाताओं का बैलेट भारी पड़ रहा है।

पखांजूर क्षेत्र के मतदान केंद्र आड़ाफर्सी और कोरेनार मतदान केंद्र की ईवीएम मशीन में खराबी आई थी जिसे सुधारने इंजीनियर मतदान केंद्र पहुंचे। जिनके बाद पुनः मतदान शुरू किया गया।