25 कांकेर 6

कांकेर। नईदुनिया प्रतिनिधि

राष्ट्रीय राजमार्ग के किनारे और स्कूल के सामने से अतिक्रमण के पर लंबे समय बाद प्रशासन ने कार्रवाई की थी। नगरपालिका द्वारा इस जगह को नो वेंडिंग जोन घोषित कर रखा था और यहां किसी भी प्रकार के दुकान संचालन की अनुमति नहीं थी। जिसके बाद भी यहां ठेले व गुमटी के नाम पर धीरे-धीरे किये जा रहे पक्के अतिक्रमण किया जा रहा था। जिसे हटाने की कार्रवाई कुछ दिन पहले ही नगरपालिका और जिला प्रशासन की संयुक्त टीम ने की थी। जिसके बाद अब इस जगह के सौंदर्यीकरण करने की योजना नगरपालिका बना रही है।

शासकीय कन्या उमा विद्यालय के सामने बड़ी संख्या में लोगों ने अतिक्रमण कर रखा था। जिसे हटाने की कार्रवाई 8 जून को की गई थी। जिसमें सड़क के किनारे सरकारी जमीन पर हो रहे कब्जे को हटाया गया था। जिसके बाद शासकीय भूमि पर दोबारा अतिक्रमण रोकने के उद्देश्य नगरपालिका स्कूल के सामने खाली पड़ी भूमि पर कटीले तारों से फैंसिंग करा रही है। जिसके बाद इस जगह पर पौधरोपण और सौंदर्यीकरण की योजना नगरपालिका तैयार कर रही है। नगरपालिका सीएमओ सौरभ तिवारी ने बताया कि स्कूल के सामने से अतिक्रमण हटाने के बाद फैंसिंग कराया जा रहा है। इस जगह पर सौंदर्यीकरण के साथ पौधरोपण कराया जाएगा।

बाक्स

अन्य अतिक्रमणकारियों पर नहीं हुई कार्रवाई

नये बस स्टैंड के पास कई अतिक्रमणकारियों ने शासकीय भूमि पर अवैध अतिक्रमण कर रखा है। साथ ही नगरपालिका द्वारा तैयार की गई गुमटियों के अलावा भी कई लोगों ने खाली जगह पर स्वयं ही गुमटियां लगा ली है, तो कुछ लोगों ने अवैध रूप से पक्के निर्माण कर रखा है। जिस पर नगरपालिका द्वारा कार्रवाई नहीं की जा रही है। जिसके चलते अतिक्रमणकारियों के हौसले बुलंद हैं।

बाक्स

नौ दुकान संचालकों को नपा ने दिया नोटिस

मिनी स्टेडियम के सामने विस्थापन में लोगों को दुकान संचालन के लिए आठ बाई आठ की जगह दी गई थी, जिसमें उन्हें दुकान संचालित करना था, लेकिन उससे कहीं बड़ी जगह पर दुकान संचालकों ने कब्जा कर रखा है। जिसे देखते हुए तहसीलदार ने नगरपालिका को आबंटित की गई जगह से अधिक जगह पर कब्जा करने और सामने टिन शेड लगाकर पक्का निर्माण करने वाले दुकान संचालकों को नोटिस जारी करने का निर्देश नगरपालिका को दिया था। जिसके चलते नगरपालिका द्वारा नौ दुकानदारों को नोटिस दिया था। नगरपालिका आरआई अनुभव साहू ने बताया कि नौ दुकानदारों को नोटिस जारी किया था। जिस पर उनका जबाव भी आ गया है। जिसमें उन्होंने बारिश और धूप से बचने के लिए अस्थाई निर्माण करने की बात कही है और स्वयं ही हटा लेने की बात कही है। यदि उनके द्वारा नहीं हटाया जाता है, तो कार्रवाई की जाएगी।