कांकेर। छत्तीसगढ़ में नक्सलियों ने अब नवगठित कांग्रेस सरकार के खिलाफ भी मोर्चा खोल लिया है। शुक्रवार को कोयलीबेड़ा के पीवी-73 इलाके में फेंके व चस्पा किए गए पर्चे में लिखा गया है कि एक तरफ तो कांग्रेस नक्सलियों से वार्ता का आह्वान करती है, वहीं दूसरी ओर दमनकारी नीतियां जारी रखने के लिए कई स्थानों पर पुलिस कैंप खोलने जा रही है। नक्सल संगठन इसका विरोध करेगा।

उत्तर बस्तर डिवीजन कमेटी भाकपा (माओवादी) के नाम से जारी पर्चे में लिखा है कि सरकार की दोहरी नीतियों का विरोध किया जाएगा। पर्चे में कोयलीबेड़ा डुट्टा, पानावार, कोहकामेटा व सोनपुर का उल्लेख करते हुए लिखा है कि सरकार यहां फोर्स के लिए कैंप खोलने जा रही है। इसका खुलकर विरोध किया जाएगा। गौरतलब है कि 28 से 30 दिसंबर तक बस्तर संभाग के प्रवास के दौरान मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने नक्सलियों से वार्ता की सारी संभावनाओं को खारिज कर दिया था। उनके बयानों के विरोध में नक्सलियों ने पहली बार मोर्चा खोला है।