कांकेर-धनेलिकन्हार। नईदुनिया न्यूज

विकासखंड कांकेर के ग्राम बाबूदबेना क्षेत्र में भालूओं के आतंक से किसान परेशान हो गए हैं। भालूओं ने किसानों के कई एकड़ खेत में लगे गन्ने की की फसल को चौपट कर दी है। इससे किसान कर्जदार होते भी दिखाई दे रहे हैं। किसानों ने बैंकों से कई लाख रुपये कर्ज लेकर गांव में गन्ने की खेती कर रहे हैं, परन्तु भालूओं के आतंक के चलते किसानों को भारी नुकसान उठाना पड़ रहा। किसानों ने इसकी शिकायत क्षेत्र के वनपरिक्षेत्र अधिकारी से भी की है। परंतु उनके द्वारा किसी भी प्रकार से भालुओं को खेतों से खदेड़ने का प्रयास नहीं किया जा रहा। इन दिनों विकासखंड कांकेर के आसपास भालूओं के आतंक से लोग डरे सहमे हुए है, किसान भालुओं के हमले से आए दिन घायल हो रहे। इसके बाद भी वन विभाग कतई ध्यान नहीं दे रहा है। इससे किसानों में रोष व्याप्त देखने को मिल रहा। भालू यही तक नहीं रुका किसानों के खेतों में जाकर फसल को भी चौपट कर देते है।

्र ्र ्र ्रबाबूदबना के किसान नारायण साहू ने बताया है कि भालूओं के आतंक से हम काफी परेशान हो गए भालूओं ने खेतों लगे कई एकड़ गन्ने की फसल को चौपट कर दिए है, जिसके बाद भालूओं ने गन्ने की खेतों को अपने आशियाने समझ कर वहीं डेरा भी डाल देते जिससे किसानों को मुश्किलों का सामना भी ्रकरना पड़ रहा है,भालूओं का खतरा हमेशा किसानों पर बना रहता है, किसानों को गन्ने की खेती में अभी तक करीबन छः लाख रुपया का नुकसान किसानों को उठाना पड़ गया है। किसान गन्ने की खेती के लिए तीन लाख 50 हजार की बैंक से कर्ज लेकर रखा है जिसमें किसान को करीबन खेती करने में छः लाख से भी ज्यादा लागत आया है, इन समस्या को देखते हुए किसान काफी परेशान नजर आ रहा था।

किसान नरेंद्र साहू ने कहा है कि क्षेत्र में भालूओं का आतंक बढ़ गया है, भालू लोगों के अलावा खेतो में लगे फसल को भी नुकसान कर रहे हैं। इससे किसानों चिंतित मायूस नजर है, गन्ने की खेती में हमें काफी नुकसान होगा। इसकी शिकायत सबंधित अधिकारियों को भी किया गया है।

----------------------------------------