कवर्धा। नईदुनिया न्यूज

राज्य शासन ने स्कूली शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए हर संभव प्रयास किया जा रहा है। हाईस्कूल यानि कक्षा 10वीं तक सभी बधाों को निःशुल्क पुस्तकें भी उपलब्ध कराई जा रही है, लेकिन स्कूल सत्र के ढ़ाई महीने बीतने के बाद भी अभी तक नगर के स्कूलों में अध्ययनरत कक्षा 9वीं व 10वीं के लगभग 150 बधाों को पुस्तकें नहीं मिल पाई है। इसका सबसे बड़ा कारण यह माना जा रहा है कि स्कूलों में पूर्व दर्ज संख्या के आधार पर पुस्तकें पहुंचा दी जाती है और नतीजा यह होता है कि यदि वर्तमान में दर्ज संख्या बढ़ गई। तो ऐसी स्थिति में नवीन बधाों को पुस्तकें नहीं मिल पाती। जिसके चलते पालकों ने इस व्यवस्था को सुधारकर नए सत्र में दर्ज संख्या के आधार पर पुस्तकें देने की मांग की है।

जानकारी के अनुसार नगर के छह स्कूलों में कक्षा 9वीं व 10वीं में हजारों विद्यार्थी अध्ययन कर रहे हैं। इनमें से मात्र दो स्कूलों में ही पर्याप्त पुस्तकों को व्यवस्था हो पाई है। इसमें से भी एक स्कूल ऐसा है। जो विभाग से पुस्तकें नहीं मिलने के कारण अन्य स्कूल से पुस्तकों की व्यवस्था की है। किसी विडंबना से कम नहीं ऐसी स्थिति 75 दिन बीत जाने के बाद भी सैकड़ों छात्रों को पुस्तक नहीं मिलना। हैरानी की बात यह है डिपो कार्यालय में पुस्तकों का बंडल तो रखा हुआ है, लेकिन डीपीआई के अतिरिक्त आदेश नहीं होने की वजह से स्कूल तक नहीं पहुंच पा रही है। वहीं शिक्षा विभाग से जब इस संबंध में बात की गई तो जिला शिक्षा अधिकारी सीएस धु्रव ने यथाशीघ्र स्कूलों तक पुस्तक पहुंचाने की बात कही। इसे विभागीय लापरवाही कहें या फिर कुछ और बहरहाल स्कूलों में बधो बिना पुस्तक के गाइड के सहारे पढ़ाई कर रहे हैं या फिर गत वर्ष के फटे पुराने पुस्तकों से पढ़ाई करना मजबूर है। पुस्तकों की कमी बरकरार नगर में हजारों बधाों के लिए मात्र छह हाईस्कूल है। जिनमें शासकीय नवीन उधातर माध्यमिक शाला कचहरी पारा, स्वामी करपात्री जी हायर सेकेंडरी स्कूल, शासकीय नवीन उधातर माध्यमिक विद्यालय, शासकीय आदर्श कन्या स्कूल, कैलाश नगर हाईस्कूल, शक्तिवार्ड हाईस्कूल शामिल है। किसी स्कूल में 9वीं की पर्याप्त पुस्तकें नहीं है। तो किसी में 10वीं कक्षा में पुस्तकों का अभाव बना हुआ है। पालकों ने कहा कि सर्व सुविधा युक्त कहे जाने वाले जिला मुख्यालय में जब बधाों को पुस्तकें नहीं मिल पाई है, तो ग्रामीण व वनांचल क्षेत्र के स्कूलों में स्थिति और भी दयनीय हो सकती है। ढ़ाई माह बीत गया है, लेकिन शहर के स्कूलों ढ़ाई माह बीत गया है, लेकिन शहर के स्कूलों में पूरी पुस्तकें नहीं पहुंच पाई है। तो वनांचल की स्थिति का सहज ही अंदाजा लगाया जा सकता है।

स्कूल दर्ज प्राप्त अप्राप्त

स्कूल स्वामी करपात्री हाईस्कूल 321 244 77

स्कूल नवीन कन्या हाईस्कूल 240 207 33

स्कूल शक्तिवार्ड हाईस्कूल 142 142 00

स्कूल कैलाश नगर हाईस्कूल 165 147 18

स्कूल कन्या हाईस्कूल 344 344 00

स्कूल नवीन हाई स्कूल 274 258 16

-- आदेश का इंतजार

पुस्तक वितरण के लिए डीपीआई कार्यालय रायपुर को मांग पत्र भेजा जा चुका है। वहां से जैसे ही आदेश आता है। इसके बाद पुस्तक वितरण कर दिया जाएगा।

सीएस धु्रव, जिला शिक्षा अधिकारी कबीरधाम