चिल्फीघाटी। नईदुनिया न्यूज

वनांचल ग्राम बोक्करखार में पिछले 15 दिनों से ट्रॉसफार्मर खराब होने से बिजली बंद है। ऐसे में शादी के सीजन के चलते अंधेरे में ही रात गुजारना पड़ रहा है। जिसकी जानकारी ग्रामीणों द्वारा विभाग को दे दी गई है। इसके बावजूद अब तक खराब ट्रांसफार्मर को सुधारा नहीं जा सका है। ग्रामीण ने बताया की पिछले 15 दिनों से जिले के अंतिम छोर पर बसा बैगा बाहुल्य ग्राम बोक्करखार गांव के लगभग 30 घरों में अंधेरा छाया हुआ है। बिजली बंद रहने से गर्मी के इस मौसम में अंधेरे में जहरीले जीव-जंतुओं का डर बना हुआ है। रात में बिजली नहीं होने से छोटे बधो सो नहीं पा रहे है। वहीं शादी का सीजन होने पर बिजली बंद रहने से शादी घरों में अंधेरा छाये रहता है। ऐसे में बिजली बंद होने से शादी के कार्यक्रम में बाधा होती है। जंगली क्षेत्र होने अंधेरे में में ग्रामीण शाम होते ही खाना खाकर घरों में दुबक जाते है। ग्रामीणों की माने तो बिजली बंद होने की जानकारी विभाग को दे दी गई है। इसके बावजूद आज तक नहीं सुधारा जा सका है। इसके चलते ग्रामीणों को अंधेरे में ही रात गुजारना पड़ रहा है।

जंगली जानवरों का डर

ग्रामीणों ने बताया की घने जंगल होने से जहरीले जीव-जंतुओं व जंगली जानवरों का डर बना हुआ है। ऐसे में बिजली बंद रहने से अंधेरे की वजह से शाम होते ही ग्रामीण खाना खाकर दुबककर सो जाते है और सुबह होने का इंतजार करते है। ऐसे में रात में बिजली बंद होने से छोटे बधो सो नहीं पा रहे है।

बोक्करखार में बिजली बंद होने की सूचना मिली है। ट्रॉसफार्मर 16 किलो वॉट का होने से खराब हो गया है। 16 केवी की जगह में 25 किलो वॉट का ट्रॉसफार्मर लगाकर बिजली चालू किया जाएगा। जल्द ही नये ट्रांसफार्मर लगाया जाएगा।

राजेंद्र ठाकुर, जेई, चिल्फी