कवर्धा। जिले में सर्व शिक्षा अभियान अंतर्गत कार्यरत शिक्षाकर्मियों को गत दो माह से वेतन नही मिला है। तीसरा महीना जारी है। वहीं विगत 7व 8 वर्षों से एरियर्स राशि का भुगतान नही हुआ है। शिक्षाकर्मियों को कई परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। शिक्षाकर्मियों आज 16 फरवरी को जिला पंचायत के सामने विरोध प्रदर्शन करेंगे। शालेय शिक्षाकर्मी संघ के जिलाध्यक्ष शिवेंद्र चंद्रवंशी व प्रदेश प्रवक्ता गजराज सिंह राजपूत ने बताया कि सर्व शिक्षा अभियान के शिक्षाकर्मियों को दिसंबर व जनवरी माह का वेतन नही मिला है। फरवरी माह भी आधा हो गया। शिक्षाकर्मी आर्थिक तंगी से जूझ रहे हैं। शिक्षाकर्मियों में आक्रोश है। संघ के ब्लाक अध्यक्षगण मोहन राजपूत, संजय जायसवाल वीरेंद्र चंद्रवंशी, राकेश जोशी व अब्दुल आसिफ खान ने बताया कि शिक्षाकर्मियों को वेतन के लिए तरसना पड़ रहा है। शासन- प्रशासन बेपरवाह है। संघ ने पहले ही चेतावनी दे दी थी कि 15 फरवरी तक यदि शिक्षाकर्मियों को वेतन भुगतान नही किया गया तो 16 फरवरी को जिला पंचायत के सामने सांकेतिक विरोध प्रदर्शन किया जाएगा। संघ ने प्रदर्शन में बड़ी संख्या में शिक्षाकर्मियों को शामिल होने की अपील की है।

त्रत्रत्रत्रत्रत्रत्रत्रत्रत्रत्रत्रत्रत्रत्रत्रत्र

फोटो.01

सीखकरए कुछ पढ;कर अपना भविष्य गढ;ें रू डॉ साहू

कवर्धा। शिक्षा गुणवत्ता के तहत पिछड़ा वर्ग आयोग के अध्यक्ष डॉ. सियाराम साहू ग्राम बिरनपुर स्थित प्राथमिक शाला पहुंचे जहां उन्होनें कक्षा और उम्र के हिसाब से विद्यार्थियों से अनेक प्रश्न किए । उन्होंने सभी बधाों को अपनी ओर से गिफ्ट भेंट कर प्रोत्साहित भी किया । डॉ. साहू ने शिक्षकों और बधाों से संक्षिप्त में कहा कि कुछ सीखकर और कुछ पढ़कर इंसान अपना भविष्य गढ़ सकता है । उन्होंने विद्यार्थियों के उम्र के हिसाब गणित विषय में गिनती, पहाडा, जोड, घटाओं अंग्रेजी विषय में अक्षर ज्ञान और सामान्य ज्ञान के तहत मुख्यमंत्री सांसदए कलेक्टर फल और फूलों के नाम भी पूछे। उन्होनें शिक्षकों से पढ़ाई और सेहत दोनों से कमजोर बालकों के पालको से सतत संपर्क बनाए रखने के निर्देश भी शिक्षकों को दिए।

त्रत्रत्रत्रत्रत्रत्रत्रत्रत्रत्रत्र

फोटो.02

आसाम के 25 लाख छत्तीसगढिय़ा न अपनी संस्कृति भूले और न ही संस्कार

कवर्धा। नईदुनिया प्रतिनिधि

आसाम में लंबे समय से निवासरत पधाीस लाख छत्तीसगढिय़ों से भेंट कर लौटे पिछड़ा वर्ग आयोग के अध्यक्ष डॉण् सियाराम साहू ने बताया कि आसाम में विभिन्न समाज के रह रहे छत्तीसगढिय़ा लोग न तो अपनी संस्कृति भूले हैं और न ही अपना संस्कार। उन्होंने बताया कि वो लोग आपस में अपनी छत्तीसगढी भाषा में ही बात करते हैं अतिथियों का स्वागत भी गुड़ पानी पान व सुपारी देकर ही करते हैं। विवाह, तीज त्योहार भी छत्तीसगढ़ के रंग में रंगा होता है। वहां के लोग अपने नाम के साथ अपनी जाती तेली सतनामी गोंड आदि शब्दों के साथ बताने में गर्व करते हैं। डॉ. साहू ने बताया कि सांस्कृतिक कार्यक्रमों के दौरान सुआ, कर्मा ददरिया, नाचा गम्मत पंथी आदि सब कुछ छत्तीसगढ़ी में प्रस्तुत करते हैं। छत्तीसगढ़ राज्य की तरह आसाम में छत्तीसगढिय़ा सबले बढिय़ा का नारा बुलंद है। डॉ. साहू ने असमिया छत्तीसगढिय़ा लोगों से भेंट के दौरान शिक्षाए संगठन और संघर्ष पर जोर देते हुए कहा कि हमें शिक्षित होना है। एक संगठन की तरह साथ रहते हुए अपने आपको केवल छत्तीसगढिय़ा मानना है और सफल जीवन जीने के लिए संघर्ष करते रहना है।

त्रत्रत्रत्रत्रत्रत्रत्रत्रत्रत्रत्र

फोटो.03

आन्दोलन में जेल जाने वाले शिक्षकों का सम्मान

0प्रांतीय पदाधिकारियों का हुआ शपथ ग्रहण

कवर्धा। नईदुनिया प्रतिनिधि

शिक्षक पंचायत नगरीय निकाय मोर्चा के बैनर तले विगत 20 नवंबर से 4 दिसंबर 2017 तक किए गए आंदोलन के दौरान बर्खास्त व जेल जाने वाले पंचायत शिक्षकों को रायपुर के दानवीर भामाशाह भवन में आयोजित कार्यक्रम में सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में शामिल छत्तीसगढ़ पंचायत नगरीय निकाय शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष रमेश कुमार चन्द्रवंशी ने बताया कि दो सत्रों में आयोजित कार्यक्रम के प्रथम सत्र में संघ प्रान्ताध्यक्ष संजय शर्मा ने नवनियुक्त प्रांतीय पदाधिकारियों व महिला प्रतिनिधियों के परिचय पश्चात निष्ठापूर्वक कार्य करने का शपथ दिलाया। द्वितीय सत्र में शिक्षक मोर्चा को आन्दोलन में बर्खास्त व जेल जाने वाले पंचायत शिक्षकों को सम्मानित किया गया। संघ जिलाध्यक्ष रमेश कुमार चन्द्रवंशी ने नेतृत्व में जिले के हेमलता शर्मा, अनिता धुर्वे गोकुल जायसवाल, रविन्द्र चन्द्रवंशी, देवन धुर्वे, वकील बेग मिर्जा, तुलसिंह ठाकुर, बलियार सिंह उइके आदि शिक्षक राजधानी में आयोजित कार्यक्रम में शामिल हुए।

त्रत्रत्रत्रत्रत्रत्रत्रत्रत्रत्रत्र

फोटो.04

समूह फसल प्रदर्शन पर प्रक्षेत्र दिवस

कवर्धा। कृषि विज्ञान केंद्र की तरफ से गत 12 फरवरी को विकासखंड स. लोहारा के ग्राम महाराटोला में समूह फसल प्रदर्शन पर प्रक्षेत्र दिवस का आयोजन किया गया। ज्ञात हो कृषि विज्ञान कवर्धा द्वारा राष्टीय दलहन मिशन अन्तर्गत चना का समूह फसल प्रदर्शन कार्यक्रम लिया गया है जिसके तहत ग्राम महाराटोला में फसल चना किस्म का प्रदर्शन दिया गया है। इसका उद्देश्य दलहन फसल का रकबा एवं पैदावार को बढ़ावा देना है। प्रक्षेत्र दिवस में चना उत्पादन तकनिकी जैसे उन्नत किस्म के बीज एवं सम्पूर्ण फसल सुरक्षा की जानकारी किसानो को दी गई। साथ ही कबीरधाम जिले के प्रमुख फसलें धान, सोयाबीन, गन्ना एवं चना उत्पादन तकनीकी के बारे में किसानों को अवगत कराया गया। प्रक्षेत्र दिवस के अवसर पर कृषि विज्ञान केंद्र कवर्धा के वरिष्ठ वैज्ञानिक एवं प्रमुख डॉ. बीपी त्रिपाठी ने चना में लगने वाले प्रमुख रोग एवं कीट का समन्वित प्रबंधन पर विस्तार पूर्वक जानकारी दी एवं दलहन एवं तिलहन फसल को बढ़ावा देने के लिए अच्छे बीज एवं उन्नत तकनीकी किसानों को बताई। वैज्ञानिक बीएस परिहार ने उन्नत किस्म के बीज एवं उर्वरक प्रबंधन की जानकारी दी। ग्राम महाराटोला के 100 से अधिक किसानों एवं उपस्थित थे।

त्रत्रत्रत्रत्रत्रत्रत्रत्रत्रत्रत्र

केंद्र के डॉक्टर पहुंचे जांच करने बच्चों ने एलबेन्डाजोल की खुराक खाई या नहीं

फोटो.05

कवर्धा। नईदुनिया प्रतिनिधि

राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस के मॉप अप राउंड दिवस के अवसर पर आंगनबाडी केंद्र और शालाओं में अध्यनरत बधाों ने एलबेन्डाजोल की दवा खाई है या नहीं इसकी जांच के लिए गुरुवार को केंद्र सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से डॉ नरेन्द्र गोस्वामी कवर्धा पहुंचे। डॉ गोस्वामी दशरंगपुर और इंदौरी के आंगनबाडी केंद्र और स्कूल गए जहां उन्होनें बधाों से दवा खाने की जानकारी ली। दवा खाने से प्रतिकूल घटना होने पर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र इंदौरी में उपलब्ध व्यवस्थाओं का औचक निरीक्षण भी डॉ. गोस्वामी ने किया। उन्होंने इस संबंध में संस्था के प्रभारी एएमओ सुरेन्द्र चंद्रवंशी से चर्चा भी की। इस दौरान बीएमओ डॉ. सतीश चंद्रवंशी नोडल अधिकारी डॉ. केशव धु्रव, एएमओ सुरेन्द्र चंद्रवंशी, डॉ ऋ तु गायकवाड बीपीएम रूपेश साहू, सीबी विश्वकर्मा, पुरुषोत्तम जायसवाल, स्टाफ नर्स बालेश्वरी साहू शिक्षकगण व आंगनबाडी कार्यकर्ता सहायिका आदि उपस्थित थे।