कवर्धा। नईदुनिया न्यूज

विश्व उधा रक्तचाप दिवस पर बूढ़ा महादेव के पास स्थित शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र कवर्धा में रक्तचाप जांच शिविर का आयोजन किया गया। उक्त शिविर में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. केके गजभिए ने स्वयं उपस्थित होकर रक्तचाप की जांच करवाया और लोगों को उधा रक्तचाप के संबंध में जानकारी देते हुए कहा कि यदि सिर में दर्द, बेचैनी, छाती में दर्द, बाएं कंधे के बाजू व कमर में दर्द सांस लेने में तकलीफ होना, बीमार उल्टी जैसे महसूस करना, ठंडा पसीना आना शरीर पीला पड़कर बेहोशी महसूस होना आदि उधा रक्तचाप के लक्षण हैं। यदि ऐसा महसूस करते हैं तो तत्काल अपने नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र में जाकर रक्तचाप की जांच कराएं और चिकित्सक के परामर्श अनुसार दवाई का सेवन करें।

उन्होंने उधा रक्तचाप के बचाव के लिए भी कुछ टिप्स दिए। जिसमें संतुलित आहार का सेवन करने, खाने में नमक कम रखें, शराब और तंबाकू के सेवन से बचें, घी व तेल का कम उपयोग करें, नियमित रूप से व्यायाम करें, अपने वजन को नियंत्रित रखें तथा 30 साल की उम्र से ऊपर के सभी लोगों को अपने नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र पर जाकर रक्तचाप की नियमित जांच करवानी चाहिए। उक्त रक्तचाप दिवस 17 मई को प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र कवर्धा में 274 पंजीयन है। उसमें 274 रक्तचाप की जांच हुई 31 उक्त रक्तचाप के मरीज मिले। जिसमें 19 पुराने मरीज मिले। 12 नए ब्लड प्रेशर के मरीज मिले। 221 मरीजों का मधुमेह जांच किया गया। जिसमें 27 मधुमेह के मरीजो में 16 पुराने व 11 नए मधुमेह के मरीज मिले। शिविर में नीलू घृतलाहरे, डॉ स्वप्निल, आरपी लांझी, संदीप चंद्राकर, अंकिता, प्रशांत शर्मा, चिकित्सा सहायक शिव गोपाल सहित मितानिन, आंगनबाडी एवं सहायिका, स्वयं सहायता समूह की महिलाएं व लोगों ने उपस्थित होकर जांच शिविर का लाभ उठाया।