फरसगांव। नईदुनिया न्यूज

भारत सरकार के नीति आयोग द्वारा संचालित मिशन 'अटल इनोवेशन मिशन' के तहत देश भर के चुनिंदा स्कूलों में अटल टिंकरिंग लैब खोले जा रहे हैं। इसी परिपेक्ष्य में कोंडागांव जिले के शासकीय आदर्श उधातर माध्यमिक विद्यालय फरसगांव का चयन राष्ट्रीय स्तर पर 1500 की सूची में 219 स्थान पर हुआ है, जिसका उद्घाटन शुक्रवार को कलेक्टर नीलकंठ टेकाम ने किया। इस अवसर पर कलेक्टर ने विभिन्न विद्यालयों से आए हुए छात्र-छात्राओं में उत्साहवर्धन करते हुए अपनी जिज्ञासाओं को एक नई दिशा देकर आगे बढ़ने को प्रेरित किया। उन्होंने इस अवसर पर सत्र की समस्त शैक्षणिक एवं खेलकूद गतिविधियां फरसगांव में करने हेतु की बात कही।

अटल टिंकरिंग लैब का मुख्य उद्देश्य यह है कि आइंस्टीन, एडीसन व अब्दुल कलाम जैसे वैज्ञानिकों की पौध तैयार करना, खोज व उद्यमिता को बढाना एवं स्टेम (साइंस टेक्नोलॉजी, इंजीनियरिंग व मैथ्स) की समझ विकसित करना, इस लैब के अंतर्गत कक्षा 6वी से 12वीं तक के विद्यार्थियों के अभिनव विचार को साकार रूप देने का कार्यस्थल है। जहां बधो अत्यधिनिक प्रौद्योगिकी जैसे 3डी प्रिंटर, रोबोटिक्स, संवेदी प्रौद्योगिकी, इंटरनेट आफ थिंग्स व सूक्ष्म इलेक्ट्रॉनिक का उपयोग कर 'खुद से करो' अवधारणा का उपयोग कर अपने अभिनय विचारों को मूर्त रुप से देने व भारत में सामाजिक, सामुदायिक व आर्थिक समस्याओं का अभिनव समाधान विकसित कर सकें।

उद्घाटन समारोह में जिला शिक्षा अधिकारी राजेश मिश्रा सहित जिले के अधिकारी कर्मचारी सहित, आदर्श विद्यालय के प्राचार्य बीके अठभैया एवं विद्यालय परिवार व बीईओ, सीईओ, अन्य विद्यालय के छात्र-छात्राएं एवं शिक्षक उपस्थित रहे।