कोरबा। जिला जेल में लूट और चोरी समेत कई मामलों में निरुद्ध आरोपी सूरज उर्फ रवि को 4 दिनों पहले जिला अस्पताल में इलाज के लिए दाखिल कराया गया था। उसकी सुरक्षा के लिए एक टीम का पुलिस बल तैनात किया गया था। वह पुलिस के शख्त पहरे के बाद भी फरार हो गया। इसकी सूचना मिलते ही पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। इसके साथ ही रक्षित निरीक्षक द्वारा प्रधान आरक्षक का डॉक्टरी परीक्षण कराया गया है और मामले की सूचना बालको थाना में दे दी गई है।

बताया जा रहा है कि ड्यूटी पर तैनात प्रधान आरक्षक अनिल कंवर उसे बिना हथकड़ी लगाए अस्पताल से बाहर चाय पिलाने ले गया था। इस दौरान वो उसे चकमा दे कर फरार हो गया। इसकी सूचना जिले के सभी थाना चौकी को सूचना दे दी है।

सूरज उर्फ रवि का शहर में खौफ था, वो जहां से गुजरता था, वहां लोगों में भय बन जाता था कि कब क्या कर दे क्योंकि जब भी जेल से बाहर आता, कुछ न कुछ कांड के बाद फिर जेल चला जाता था। जिले के कई थाना चौकी में सूरज के खिलाफ मामले चल रहे हैं और इसे पकड़े पुलिस को काफी मशकत करना पड़ता है। आरोपी कुछ माह पहले ही रामपुर चौकी में लूट के मामले में पकड़ा गया था जहाँ उसने शहर शहर के अलग अलग इलाकों में चाकू के नोक लूटपाट किया था।