कोरबा। नईदुनिया न्यूज

जिले में लोगों के राजस्व संबंधी मामलों और पटवारियों के हर दिन के कामकाज की मॉनिटरिंग के लिए राजस्व मॉनिटरिंग सेल बनेगा। संयुक्त कलेक्टर स्तर के अधिकारी इसके प्रभारी होंगे। समय सीमा की साप्ताहिक बैठक में कलेक्टर किरण कौशल ने यह जानकारी अपᆬसरों को दी। यह मॉनिटरिंग सेल प्रतिदिन अपने-अपने हल्कों में पटवारियों की उपस्थिति, उनके किए गए कामों की जानकारी के साथ-साथ आगामी दिन की कार्य योजना की भी जानकारी रखेगा। मॉनिटरिंग सेल के संचालन के लिए तीन कार्यालय सहायकों की ड्यूटी लगाई जाएगी और जरूरी रिकॉर्ड भी रखा जाएगा। एक सप्ताह के भीतर मॉनिटरिंग सेल का गठन करने कहा गया है।

कलेक्टर कौशल ने बालाजी सुपर स्पेशलिटी अस्पताल में मरीजों के खून, मूत्र की जांच, एक्स-रे आदि कराने की राशि निर्धारित करने के लिए की गई कार्रवाई के बारे में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी से पूछा। उन्होंने गरीब परिवारों को रियायती दरों पर जांच की सुविधा दिलाने के लिए प्रदेश के मेडिकल कॉलेज अस्पतालों में विभिन्न प्रकार की जांच कराने के लिए तय दर के अनुसार ही बालाजी सुपर स्पेशलिटी अस्पताल में भी राशि निर्धारित करने कहा। कलेक्टर ने इसके लिए बालाजी अस्पताल प्रबंधन के साथ बैठक कर राशि तय करने कहा। कलेक्टर ने पहले दिए गए निर्देशों के अनुसार अब तक जिला अस्पताल में ऑनलाइन सॉफ्टवेयर आधारित मॉनिटरिंग सिस्टम की स्थापना नहीं हो पाने पर नाराजगी जताई और एक सप्ताह में इस पर अमल करने सीएमएचओ को कहा। बैठक में कलेक्टर कौशल ने कृषि और उद्यानिकी विभाग से संबंधित प्रकरणों पर की गई कार्रवाई की जानकारी ली। उन्होंने गौठानों के पास बने चारागाहों में चारा फसलों की बुआई के लिए पर्याप्त मात्रा में बीज खाद का इंतजाम सुनिश्चित करने उप संचालक कृषि को कहा। कलेक्टर ने चालू खरीफ सत्र में बोई जाने वाली फसलों के बीज और खाद भी सभी सहकारी समितियों में पर्याप्त मात्रा में भंडारित कर किसानों को वितरण करने कहा। उन्होंने घुरवा और बाड़ी विकास के कामों में धीमी प्रगति पर गहरी नाराजगी व्यक्त की और दोनों अधिकारियों को काम में तेजी लाने कहा। कलेक्टर ने आने वाले शनिवार को सुबह 11 बजे जिला स्तरीय समिति की बैठक आयोजित कर सभी पात्र प्रकरणों का अनुमोदन करने और जल्द से जल्द वन अधिकार मान्यता पत्र तैयार करने राजस्व विभाग के अधिकारियों को कहा। कलेक्टर ने खंड स्तरीय एवं अनुविभाग स्तरीय समितियों के बैठकों के कार्रवाई विवरण और पंचायत स्तर पर संधारित रिकॉर्ड को भी अवलोकन के लिए जिला स्तरीय समिति के समक्ष प्रस्तुत करने कहा। समय सीमा की साप्ताहिक बैठक में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत इंद्रजीत सिंह चंद्रवाल, अपर कलेक्टर प्रियंका महोबिया सहित सभी विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित रहे।

तो बड़े अपᆬसरों पर भी होगी कार्रवाई

कलेक्टर ने बैठक में साफ कहा कि आगामी 15 दिनों में घुरवा और बाड़ी विकास के कामों में अपेक्षित प्रगति नहीं करने वाले मैदानी अमले सहित वरिष्ठ अधिकारियों पर भी कार्रवाई सुनिश्चित की जाएगी। बैठक में कलेक्टर ने सूदुर वनांचलों में वन भूमि पर लंबे समय से निवास करने वाले लोगों को वन अधिकार पट्टा देने के लिए अब तक की गई कार्रवाई की भी जानकारी राजस्व एवं आदिवासी विकास विभाग के अधिकारियों से ली। उन्होंने अब तक जिले में पात्र पाए गए दस हजार से अधिक हितग्राहियों के प्रकरणों को खंड स्तरीय समिति और अनुविभाग स्तरीय समिति द्वारा अनुमोदन कराकर आगामी दो दिनों में जिला स्तरीय समिति के समक्ष प्रस्तुत करने कहा।