बिलासपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। पुराना हाईकोर्ट के सामने रायपुर रस भंडार गली में रहने वाली वृद्ध महिला को दो अनजान युवकों ने डॉक्टर का पता पूछने के बहाने रोक लिया। फिर उसके सिर पर हाथ फेरा और केमिकल सूंघाकर बदहवास कर दिया। इस बीच युवकों ने उसके गले व कान से सोने के जेवर लूटकर चंपत हो गए। जब तक होश आया और लूट का पता चला, तब तक युवक भाग निकले थे।

घटना सिटी कोतवाली थाना क्षेत्र के पुराना हाईकोर्ट के सामने रायपुर रस भंडार गली में रहने वाली राधाबाई टेकचंदानी पति किशनचंद (67) के साथ बुधवार की दोपहर करीब 12 बजे हुई। वह निराश्रित पेंशन लेने केनरा बैंक जाने के लिए निकली थी। आदर्श कॉलोनी मोड़ के पास एक अनजान युवक आया और उससे किसी रेखा डॉक्टर के संबंध में पूछताछ करने लगा। महिला ने पास ही रहने वाली डॉ.मधुलिका सिंह की जानकारी दी और रेखा नाम की डॉक्टर को नहीं जानने की बात कही।

इस बीच दूसरा युवक आया और उसे बातों में उलझाकर अगरबत्ती जलाकर घर में अशांति होने व बहू-बेटों के परेशान करने की बात कहने लगे। इस बीच उसके सिर पर हाथ फेरते ही वह बदहवास हो गई। युवक वृद्ध महिला को किनारे ले गए और पेड़ को दिखाते हुए चकमा देकर उनके गले से सोने की चेन, टॉप्स को निकाल लिए। फिर दोनों युवक चंपत हो गए। महिला को कुछ समझ में आया, तब तक वे भाग निकले थे। इस बीच महिला का पति बैंक से उसे खोजते हुए आया, तब वह रोने लगी और अपने पति को घटना की जानकारी दी। उनकी रिपोर्ट पर पुलिस ने धारा 379 के तहत अपराध दर्ज कर लिया है।

रिपोर्ट दर्ज करने आनाकानी करती रही पुलिस

पीड़ित वृद्ध महिला जब इस मामले की रिपोर्ट दर्ज कराने कोतवाली थाने पहुंची, तब पुलिस रिपोर्ट दर्ज करने आनाकानी करती रही। महिला से कहा गया कि जेवर को वह अपने घर में छोड़ दी होगी या फिर कहीं और जगह गिरा दी होगी। गुरुवार को स्थानीय नेता को लेकर वह थाने गई, तब पुलिस हरकत में आई और कार्रवाई की। इस पर महिला के पति किशनचंद का कहना है कि थानों में बिना परिचित के कोई काम नहीं होता। रिपोर्ट दर्ज कराना तो बहुत ही मुश्किल है।