महासमुंद। नईदुनिया न्यूज

भारतीय संविधान के निर्माता डॉ. भीमराव अंबेडकर के 62वें महापरिनिर्वाण दिवस छह दिसंबरको श्रद्धांजलि का कार्यक्रम व कैंडल मार्च का आयोजन किया गया। भारतीय बौद्ध महासभा नगर शाखा महासमुंद के महामंत्री (सचिव) राजेश आर भालेराव ने बताया कि बौद्ध महासभा एवं रमाबाई आंबेडकर बौद्ध महिला मंडल महासमुंद के तत्वावधान में भदंत आर्य नागार्जुन सुरई ससाई बुद्ध विहारपरिसरमहासमुंद में भावभीनी श्रद्धांजलि दी गई। देवेन्द्र मेश्राम के नेतृत्व में कैंडल मार्च का भी आयोजन किया गया। प्रातःकालीन सभा में छह दिसंबर की सुबह साढ़े सात बजे अंबेडकर चौक में सभी बौद्ध उपासक/उपासिकाओं की उपस्थिति में अध्यक्ष पीजी बंसोड़ ने बाबा साहेब के आदमकद प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। सामूहिक रूप से भारतीय संविधान के निर्माता डॉ. बाबा साहेब अंबेडकर अमर रहे के नारे लगाए गए। पश्चात प्रातः आठ बजे बुद्ध विहारपरिसर में सामूहिक बुद्ध वंदना की गई। उपरांत आंबेडकरके छायाचित्र समक्ष सामूहिक रूप से दो मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि दी गई। इस अवसर पर सुनील गजवीर महासचिव, ऑल इंडिया समता सैनिक दल, दिलीप रागासे, दीपक बंसोड़, बीपी मेश्राम, संजय वासनिक, श्यामलाल मन्नाड़े उपस्थित थे।

---