फोटोः 17 जानपी 14- यशोदा बाई

सरपंच, सचिव द्वारा अब नहीं दी जा रही राशि

सक्ती। नईदुनिया न्यूज। शौचालय निर्माण के लिए सरपंच, सचिव द्वारा राशि नहीं दिए जाने पर ग्रामीण महिला ने अपना मंगलसूत्र बेचकर अधूरे शौचालय का निर्माण पूरा कराया। अब पंचायत द्वारा राशि नहीं दी जा रही है। इसकी शिकायत जनपद सीईओ से करते हुए उसने शीघ्र राशि दिलाने की मांग की है।

ग्राम पंचायत ़ऋषभ तीर्थ में शौचालय निर्माण की राशि नहीं मिलने की शिकायत यशोदा बाई चौहान द्वारा जनपद पंचायत कार्यालय में 5 जनवरी को की गई थी। आवेदन में प्रार्थिया ने बताया था कि सरपंच सचिव द्वारा उसके घर में निर्मित शौचालय निर्माण को अधूरा छोड़ दिया गया था। कई बार कहने के बाद भी शौचालय का निर्माण नहीं कराया गया। अधूरे शौचालय का निर्माण पूरा कराने उसने अपना मंगलसूत्र बेचकर शौचालय का निर्माण पूरा कराया। निर्माण के बाद भी सरपंच, सचिव के द्वारा शौचालय निर्माण की राशि नहीं दी जा रही है। शिकायत के बाद सचिव ने मात्र 6 हजार रूपए देकर कागज में दस्तखत करने के लिए कहा। मेरे द्वारा कहा गया कि शौचालय निर्माण की 12 हजार राशि देगे तभी लूंगी। सचिव दुर्गा चरण जायसवाल ने कहा कि पैसा लेना है तो लो नहीं तो जहां शिकायत करना है कर दो। इसके बाद जनपद कार्यालय में अनेक बार सचिव,सरपंच की शिकायत मुख्य कार्यपालन अधिकारी से की गई। परन्तु शौचालय की न तो राशि दिया जा रहा है और न ही इसकी जांच कराई जा रही है। इस संबंध में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जीपी साहू ने बताया कि शिकायत प्राप्त हुई है। मौके का निरीक्षण तथा सरपंच सचिव से इसकी जानकारी लेकर शौचालय की राशि शीघ्र दिलाई जाएगी।