अम्बिकापुर। सरगुजा जिले के मैनपाट वन परिक्षेत्र में फिर से हाथियों का एक दल घुस आया है। शुक्रवार की सुबह मैनपाट की तराई में बसे ग्राम पंचायत पेट के आश्रित ग्राम कुनकुरी में हाथियों को देख ग्रामीण भयभीत हो उठे। बस्ती के किनारे जमे हाथियों को ग्रामीणों ने एकजुट होकर असुरक्षित तरीके से खदेड़ना शुरू कर दिया। बड़ी तादाद में ग्रामीणों के हो हल्ला करने से हाथी नजदीक के जंगल में घुस गए।

बताया जा रहा है कि हाथियों का यह दल ओडिशा का है जो पिछले वर्ष भी जशपुर वन मंडल से होते हुए मैनपाट में घुसा था। उस दौरान हाथियों द्वारा बड़े पैमाने पर फसलों को नुकसान पहुंचाने के साथ मकान भी क्षतिग्रस्त किए गए थे। वन विभाग ने विशेषज्ञों की मदद से इसी दल की मादा हाथी पर सेटेलाइट कॉलर लगाया था। हाथियों का यह दल बेहद आक्रामक है। क्षेत्र में फिर से हाथियों के घुस आने पर वन विभाग के मैदानी अमले को सतर्क कर दिया गया है। ग्रामीणों को सलाह दी जा रही है कि वह हाथियों को असुरक्षित तरीके से खदेड़ने का प्रयास ना करें। वर्तमान में हाथी मैनपाट से लगे रायगढ़ जिले के कापू वन परिक्षेत्र के जंगल में जमे हुए हैं। वन विभाग ने हाथियों को खदेड़ने के लिए प्रभावित क्षेत्र में गजराज वाहन भेजे हैं। यह वाहन सुरक्षा के मद्देनजर यहां पेट्रोलिंग करेंगे।