Naidunia
    Saturday, February 24, 2018
    PreviousNext

    मौसम की बेरूखी ने कृषकों की बढ़ाई चिंता

    Published: Thu, 15 Feb 2018 11:26 PM (IST) | Updated: Thu, 15 Feb 2018 11:26 PM (IST)
    By: Editorial Team

    पथरिया/ मुंगेली। नईदुनिया न्यूज

    तीन दिन से क्षेत्र में बेमौसम बारिश के कारण् दलहनी फसल पूरी तरह से चौपट हो गई है। इसके कारण किसान चिंतित हो गए। सूखे के मार झेल रहे कृषकों की मुश्किलें बढ़ गई है।

    बेमौसम बारिश से क्षेत्र के कृषक परेशान हो गए हैं। रविवार की शाम से जारी बेमौसम बारिश ने लोगों को रूलाकर रख दिया है। इसके कारण आसपास के कृषक जो चना , तिवरा रहते हैं उनकी स्थिति ज्यादा खराब है। क्षेत्र में बारिश के कारण कोठार में कटकर रखी गई अरहर की फसल को भी नुकसान होने की बात कही जा रही है। चूंकि नमी आने के कारण दाल की स्थिति बेहतर नहीं रहती है। किसानों ने बताया तीन दिन की बारिश से सबसे ज्यादा परेशानी तिवरा, चना के फसल लेने वाले कृषकों को है। इसके कारण ग्राम पंचायत भठली, सिलतरा, पथरगढ़ी के कृषक भी परेशान होने की बात कह रहे हैं। उन्हें लगातार फसल में नुकसानी के कारण सरकार से उम्मीद है कि उन्हें मदद मिलेगी। इसी प्रकार मुंगेली ब्लाक के ग्राम पंचायत सेतगंगा , खैरा , सिल्ली, दाबो, मदनपुर, तरुवरपुर, हरियरपुर ,ठाकुरकांपा, नारायणपुर, लक्षनपुर, अनंदपुर , शुक्लाभाठा में बेमौमस बारिश से सबसे अधिक किसान प्रभावित हुए हैं। उनकी ओनहारी की फसल पूरी तरह से बर्बाद हो गई है। इसमें तिवरा ,चना,धनिया,मसूर,अरहर,अलसी,करैत एवं रबी फसल शामिल है।

    फसल को ओलावृष्टि से हुई नुकसान

    बिल्हा। तीन दिनों तक हुई भारी बारिश और ओलावृष्टि से क्षेत्र में ओनहारी की फसल को काफी नुकसान हुआ है। बारिश के नुकसान से किसानों की चिंता बढ़ गई है। प्राप्त जानकारी के मुताबिक इस वर्ष आकाल की वजह से किसान पूर्व से परेशान थे। वे ओनहारी की फसल इस आशा से लिए थे कि धान की फसल में हुई भरपाई को कम किया जा सके परंतु तीन से हुई बारिश और ओलावृष्टि ने उनकी परेशानी और बढ़ा दी है। इसमें तिवरा,चना,सरसों,गेंहू आदि फसल लिए हुए किसान शामिल हैं। तेज बारिश और ओलावृष्टि से चना व सरसों के फूल पूरी तरह से झड़ गए हैं। वहीं लगातार बारिश के कारण तिवरा की फसल में गल गई है। गेंहू के पौधे खेत में ही गिर गए हैं।

    दोहरी परेशानी झेल रहे

    इस संबंध में कृषक वीरसिंह ध्रुव ने बताया कि इस बार अकाल की वजह से धान भी नही हुआ है। अभी तिवरा खेत में लगाए थे, पानी गिरने की वजह से पौधों में लगे फूल झड़ गए हैं जिससे फसल की उम्मीद कम हो गई है।

    सभी फसल को नुकसान

    इसी प्रकार किसान जीवन डहरिया ने बताया कि सरसों और चना ,गेंहू लगाए थे ओलावृष्टि की वजह से गेंहू के पौधे खेत में गिर गए हैं। चना फूल झड़ गए और पानी की वजह से तिवरा की फल काले हो रहे हैं।

    आम की फसल प्रभावित

    नोहर सिंह ध्रुव ने कहा ओलावृष्टि से क्षेत्र के कृषकों की फसल खराब हो गई है। आम की फूल झड़ने से आम की फसल लेने वालों को भी क्षति हुई है।

    और जानें :  # mausham ky barukahai
    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें