0 अवकाश के दिन भी लिपिकों का धरना-प्रदर्शन

अंबिकापुर । नईदुनिया प्रतिनिधि

वेतन विसंगति में सुधार की मांग को लेकर छत्तीसगढ़ प्रदेश लिपिक वर्गीय शासकीय कर्मचारी संघ के बैनर तले रविवार को शासकीय अवकाश के बावजूद लिपिकों ने एकजुटता का परिचय देते हुए धरना प्रदर्शन जारी रखा। रविवार को सरगुजा सांसद कमलभान सिंह व भाजपा जिलाध्यक्ष अखिलेश सोनी भी लिपिकों के धरनास्थल पर पहुंचे। संगठन की ओर से लिपिकों की मांग से संबंधित ज्ञापन सांसद व भाजपा जिलाध्यक्ष को सौंपा गया।

सांसद व भाजपा जिलाध्यक्ष ने वेतन विसंगति में सुधार की मांग को जायज बता आश्वस्त किया कि इसमें सुधार के लिए वे हर संभव पहल करेंगे। मुख्यमंत्री से भी लिपिकों की मांगों को लेकर चर्चा करने का आश्वासन दिया गया। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के निधन का एक माह पूर्ण होने पर धरना स्थल पर श्रद्घांजलि सभा आयोजित की गई। सांसद, भाजपा जिलाध्यक्ष सहित अन्य लोगों ने पुष्प अर्पित कर श्रद्घांजलि दी। संघ के जिलाध्यक्ष अखिलेश सोनी ने बताया कि वेतन विसंगति में सुधार की मांग को लेकर पिछले सात माह से संगठन स्तर पर प्रयास जारी था। लगातार पत्राचार भी किया गया। सांकेतिक धरना प्रदर्शन के बावजूद सरकार की ओर से जब मांगों को पूर्ण कराने कोई पहल नहीं हुई तो मजबूरीवश लिपिकों को अनिश्चितकालीन हड़ताल शुरू करना पड़ा है। लिपिकों के आंदोलन के लंबा खींचने से प्रशासनिक तंत्र में भी चिंता बढ़ती जा रही है, क्योंकि निर्वाचन जैसा महत्वपूर्ण कार्य भी लिपिकों के आंदोलन के कारण प्रभावित होने लगा है।