फोटोः 17 जानपी 15- दोनों आरोपी व पुलिस

फोटो : 17 जानपी 16- बरामद नकली नोट

दोनो आरोपियों से एक लाख दो हजार रूपए के पांच सौ, दो सौ व पचास रूपए के नकली नोट बरामद

मामले का मुख्य आरोपी फरार, टीम बनाकर पुलिस दे रही दबिश

जांजगीर-चांपा। नईदुनिया न्यूज। नकली नोट खपाने के चक्कर में जिला न्यायालय का एक स्टेनो व नवागढ़ सीएचसी का वार्ड व्याय पुलिस के हत्थे चढ़ गया। आरोपियों से 500, 200 व 50 रूपए के कुल एक लाख दो हजार रूपए का नकली नोट बरामद किया। साथ ही एक लैपटॉप भी बरामद किया गया। मामले का मुख्य आरोपी पुलिस की पकड़ से बाहर है। पतासाजी के लिए पुलिस द्वारा दबिश दी जा रही है।

पुलिस के अनुसार आज सुबह मुखबिर से सूचना मिली कि पामगढ़ क्षेत्र में एक बाइक पर सवार दो लोग नकली नोट लेकर दुकानदारों के पास जाकर खपाने का प्रयास कर रहे है। सूचना मिलते ही एसपी पारूल माथुर ने त्वरित कार्रवाई का निर्देश दिया। एएसपी श्रीमती मधुलिका सिंह व एसडीओपी निकोलस खलखो के मार्गदर्शन में थाना प्रभारी पामगढ़ राजकुमार लहरे के नेतृत्व में टीम गठित कर घेराबंदी के लिए पुलिस निकली। तहसील कार्यालय के पास नकली नोट खपाने का प्रयास कर रहे आरोपी धनीराम (34) पिता रामदयाल देवांगन निवासी खोखरा को नकली नोट के साथ पकड़ा गया। उससे दो सौ, पांच सौ व पचास रूपए के नकली नोट मौके पर बरामद किया गया। पूछताछ करने पर धनीराम ने अपने साथी संजय कुमार देवांगन (36) पिता हेतराम देवांगन निवासी खोखरा के साथ मिलकर पामगढ़ क्षेत्र में भारी मात्रा में नकली नोट रखकर खपाने का प्रयास करना बताया। उसकी निशानदेही पर आरोपी संजय कुमार देवांगन को सोमवारी बाजार चौक के पास घेराबंदी कर पकड़ा गया। उसके कब्जे से एक ही सीरिज के पांच सौ, दो सौ व पचास-पचास रूपए के नए, पुराने सीरिज के नकली नोट काफी मात्रा में बरामद किया गया। पूछताछ में खुलासा करते हुए संजय ने बताया कि वह जिला न्यायालय जांजगीर में स्टेनो है। वह कम्प्यूटर कार्य में निपुण है। उसका साथी धनीराम देवांगन सीएचसी नवागढ़ में वार्ड व्याय के पद पर पदस्थ है। वह नकली नोट खपाने में माहिर है। नकली नोटों को भारी मात्रा में अपने मकान खोखरा में भाई ऋषि देवांगन के साथ तीनों मिलकर लैपटॉप, स्केनर, कलर प्रिंटर एवं अन्य उपकरण से नकली नोट लंबे समय से तैयार कर रहे थे। आरोपी संजय देवांगन के कब्जे से एक नग लैपटॉप एवं पांच सौ, दो सौ व पचास रूपए एवं आरोपी धनीराम देवांगन के कब्जे से पांच सौ, दो सौ व पचास रूपए का नकली नोट कुल एक लाख दो हजार रूपए बरामद किया गया। मामले का मुख्य आरोपी संजय देवांगन का भाई ऋषि देवांगन फरार है। उसके पास भारी मात्रा में नकली नोट एवं नकली नोट छपाने में प्रयुक्त सामग्री होना बताया गया है। उसकी पतासाजी में पुलिस टीम बनाकर दबिश दे रही है। कार्रवाई में थाना प्रभारी राजकुमार लहरे, एएसआई बीएस लकड़ा, प्रधान आरक्षक अरूण कुमार सिंह, शिवनंदन जलतारे, आरक्षक विरेन्द्र टण्डन, अर्जुन यादव, मिरीश साहू, परदेशी कश्यप, दीपक कश्यप, राजेन्द्र राठौर व थाना स्टाफ का योगदान रहा। आरोपियों के खिलाफ भादवि की धारा 489क, 489ख, 489ग, 489घ, 34 के तहत मामला पंजीबद्घ किया गया है।