रायपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

नई प्रदेश सरकार की तर्ज पर गांवों की सरकारों के भी काम करने के तौर-तरीकों में आमूलचूल परिवर्तन की तैयारी प्रशासनिक स्तर पर कर ली गई यानी इसके भी रूप-रंग बदलेंगे। इसी कड़ी में सभी विकासखंडों में विशेष ग्राम सभाएं लगेंगी। वैसे पहले भी ग्राम सभा की बैठकें होती रही हैं, लेकिन इसमें ज्यादातर बैठकें सिर्फ कागजों पर ही दिखा दी जाती थीं। अब ग्राम सभा की बैठकों की बाकायदा फोटोग्राफी होगी। जरूरत पड़ने पर वीडियोग्राफी की जाएगी। मौके पर ही ग्रामीणों की मौजूदगी में राजस्व समेत अन्य विभागों के अधिकारी मौजूद रहेंगे। सभी ग्रामीण आपसी सहमति से अपने ही गांव के विकास का खाका भी खींचेंगे। सरपंच और अधिकारी जिसे प्रशासकीय स्वीकृति भी प्रदान करेंगे। इसके साथ ही गांवों के सभी विवादास्पद मामले वहीं निपटा लिए जाएंगे। इसके लिए प्रशासन की ओर से गाइड लाइन भी जारी कर दी गई है।

गांवों के विकास कार्यों में आएगी पारदर्शिता

इसमें खास बात है कि अभी तक विकास कार्य गुपचुप तरीके से कागजों पर ही कर लिए जाते थे, लेकिन अब ऐसा नहीं हो पाएगा। विशेष ग्राम सभाओं के अलावा सामान्य दिनों में ग्राम सभा की बैठकों में नियमों का कड़ाई से पालन कराया जाएगा। बैठक होने के पुख्ता सबूत होंगे।

ग्रामीण अपने सरपंच के साथ करेंगे कार्यों की समीक्षा

ग्रामीण अपने सरपंच के साथ ही प्रत्येक निर्माण कार्य की समीक्षा भी करेंगे। इसमें किसी भी प्रकार की खामी पाए जाने की आशंका से इंजीनियरों और अधिकारियों से जांच कराएंगे।

पूर्व में हुए विकास कार्यों की रखेंगे रिपोर्ट

किसी भी सदन की तरह ही विशेष ग्राम सभा की बैठक में पूर्व आयोजित मीटिंग में पारित संकल्पों और कार्यों के क्रियान्वयन संबंधी पालन प्रतिवेदन को प्रस्तुत किया जाएगा । पंचायतों के तिमाही आय-व्यय की समीक्षा के साथ ही चालू वित्तीय वर्ष में विभिन्न योजनाओं से स्वीकृत कार्य के नाम, प्राप्त राशि, स्वीकृत राशि, व्यय राशि एवं कार्य की अद्यतन स्थिति का वाचन किया जाएगा।

इन नियमों के तहत होगी समीक्षा

छत्तीसगढ़ ग्राम पंचायत (बजट अनुमान) नियम 1997 अंतर्गत ग्राम पंचायत के बजट अनुमान के प्रारूप पर विचार और अनुमोदन और विभिन्न कार्यक्रमों के तहत ग्रामीण स्वच्छता कार्यक्रमों को प्रोत्साहित करने के लिए घरों में निर्मित व निर्माणाधीन शौचालय की प्रगति की समीक्षा की जाएगी।

प्राथमिकता के केंद्र में रहेंगी ये योजनाएं

1-ग्राम पंचायत डेवलपमेंट प्लान के निर्माण के संबंध में लोगों को जानकारी दी जाएगी।

2- महात्मा गांधी राष्ट्रीय रोजगार गारंटी योजना के तहत उपलब्ध कराए गए रोजगार।

3- सामाजिक सहायता कार्यक्रम अंतर्गत संचालित पेंशन योजनाओं का सामाजिक अंकेक्षण एवं हितग्राहियों का सत्यापन।

4- ग्रामीण क्षेत्र की शालाओं में शिक्षा की गुणवत्ता।

5- शिक्षकों की उपस्थिति एवं शिक्षकीय कार्य।

6-शालाओं में शौचालय की साफ सफाई व्यवस्था, पेयजल आदि की होगी समीक्षा।

विशेष ग्राम सभा में मिलेंगे ये लाभ

1-लघु वन उपज संग्रहण एवं उससे प्राप्त राजस्व की जानकारी, गौण खनिज से प्राप्त राजस्व राशि।

2-स्वीकृत कार्य की समीक्षा, शासकीय उचित मूल्य की दुकानों लक्षित सार्वजनिक वितरण प्रणाली से संबंधित अभिलेखों का सामाजिक अंकेक्षण।

3-जरूरतमंद व्यक्ति के लिए पंचायतों द्वारा वितरित खाद्यान्न उससे लाभान्वितों के नामों का वाचन किया जाएगा।

4-अविवादित नामांतरण के लिए प्रकरणों एवं उनके निराकरण की अद्यतन स्थिति।

5-जन्म, मृत्यु एवं विवाह पंजीयन से संबंधित प्रकरणों के लंबित, निराकृत एवं वितरित प्रमाण पत्रों की जानकारी ग्राम सभा में लोगों को दी जाएगी।

6-आगामी समस्त निर्वाचनों में ऐसे समस्त नागरिक जो 18 वर्ष की आयु को प्राप्त कर चुके हैं।

वर्जन

विशेष ग्राम सभा आयोजन 23 जनवरी से किया जाएगा। गांवों के विकास कार्यों के क्रियांवयन को ध्यान में रखते हुए इस बार प्लानिंग की गई है।

- डॉ. बसवराजु एस, कलेक्टर, रायपुर