0 अवैध वसूली के खिलाफ संभाग के ट्रक मालिक हुए लामबंद

0 ओवरलोड वाहनों को पकड़ने 1 अक्टूबर से करेंगे पेट्रोलिंग

0 पुलिस व परिवहन विभाग की मनमाना कार्रवाई पर मुखर हुए ट्रक मालिक

अंबिकापुर । नईदुनिया प्रतिनिधि

सरगुजा संभागीय ट्रक मालिक संघ की बैठक में ओवरलोड सामान परिवहन न करने और न ही ओवरलोड वाहनों को सड़कों पर चलने देने का संकल्प पारित किया गया। पुलिस और परिवहन विभाग द्वारा जांच के नाम पर अवैध वसूली किए जाने की स्थिति में मौके पर ही ट्रकों को खड़ा कर आंदोलन करने का निर्णय भी लिया गया।

पुलिस व परिवहन विभाग द्वारा जांच के नाम पर पिछले कुछ समय से की जा रही अवैध वसूली को लेकर सरगुजा संभाग के ट्रक मालिकों ने लामबंद होकर इसका पूरजोर विरोध करने की रणनीति तय करने हेतु रविवार को अंबिकापुर में बैठक आहूत की। संभाग की सभी जिलों के ट्रक मालिकों की उपस्थिति में आहूत इस बैठक में वर्तमान समय में ट्रकों व मालवाहकों से सामान परिवहन को लेकर सामने आ रही दिक्कतों पर खुली चर्चा हुई। ट्रक मालिकों ने ओवरलोड के नाम पर पुलिस और परिवहन विभाग द्वारा की जा रही मनमानापूर्वक कार्रवाई की कड़े शब्दों में निंदा करते हुए अवैध वसूली का सड़क पर उतरकर ही विरोध करने का सुझाव दिया। सरगुजा संभागीय ट्रक मालिक संघ के अध्यक्ष रविंद्र तिवारी की उपस्थिति में आहूत बैठक में सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि पुलिस व परिवहन विभाग द्वारा जहां भी ट्रकों के खिलाफ अवैध तरीके से कार्रवाई की जाएगी, वहां पर सभी ट्रक मालिक एकत्रित होंगे। अवैध कार्रवाई का सामूहिक रूप से विरोध करेंगे और जरूरत पड़ी तो उसी स्थान पर सभी मालिक अपनी-अपनी ट्रकें खड़ी कर आंदोलन भी करेंगे। ओवरलोड नहीं चलने और न ही किसी दूसरे को चलने देने का भी संकल्प बैठक में पारित किया गया। संघ के अध्यक्ष रविंद्र तिवारी ने बताया कि सभी ट्रक मालिकों की सहमति से यह भी निर्णय लिया गया कि 1 अक्टूबर से ओवरलोड ट्रकों की पेपर जब्ती कराने की कार्रवाई संघ से जुड़े लोग कराएंगे। विभिन्न मार्गों पर ट्रक मालिक संघ से जुड़े पदाधिकारी, सदस्य हर रोज पेट्रोलिंग करेंगे। जहां भी ओवरलोड ट्रक अथवा मालवाहक वाहन मिला, उसका पेपर लेकर प्रशासन से कार्रवाई भी कराएंगे। संघ पदाधिकारियों ने कहा कि वे यातायात व परिवहन नियमों का पालन कर ट्रकों का संचालन करेंगे। नियमों का पालन कराने सभी वाहन मालिकों को प्रेरित भी करेंगे, लेकिन पुलिस व परिवहन विभाग की मनमाना व अवैध कार्रवाई को अब सहन नहीं करेंगे। लंबे समय बाद अवैध वसूली के खिलाफ संभाग के पांचों जिलों के ट्रक मालिकों की बैठक को लेकर पुलिस व प्रशासनिक अमले में भी खलबली मची हुई थी। शहर के जिस होटल में लगभग 300 ट्रक मालिक एकत्रित हुए, उसके आसपास अधिकारी-कर्मचारी भी बैठक में लिए जाने वाले निर्णयों की जानकारी जुटाने की कोशिश करते नजर आए।