रायपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

राजधानी में रविवार को गुढ़ियारी इलाके के 12 वार्ड में पानी नहीं आने से हाहाकार मचा रहा है। इसकी वजह पेयजल की पाइप लाइन का क्षतिग्रस्त होना था। शहर के तेलघानी नाका चौक पर ओवरब्रिज निर्माण के लिए पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों ने काम करना शुरू कर दिया है। इसी दौरान मशीन चलाते वक्त इस इलाके की दो प्रमुख टंकियों को भरने वाली प्रमुख पाइप लाइन क्षतिग्रस्त हो गई। देर रात मुख्य फिल्टर प्लांट से पेयजल की सप्लाई हुई तो क्षतिग्रस्त पाइप से सैकडों लीटर पानी व्यर्थ सड़क पर बह गया। सुबह इलाके में पेयजल नहीं आने से लोगों में अफरा-तफरी मच गई । डेढ़ लाख आबादी में प्रभावित हुई।

इन इलाकों में नहीं पहुंचा पानी

प्रमुख इलाकों में गुढ़ियारी में पांच वार्ड, बाल गंगाधर तिलक वार्ड, ठक्कर बापा वार्ड, दानवीर भामाशाह वार्ड, कन्हैयालाल बाजारी वार्ड, राम नगर, जवाहर नगर, समता कॉलोनी, रामसागर पारा, मौदहापारा इलाके और स्टेशन के आसपास के इलाकों में पानी नहीं पहुंचा। लोग रिश्तेदारों के घर जाकर स्नान किया। अफरा-तफरी मच गई। लोग पार्षदों को फोन करके मामले की जानकारी दी। सुबह सीनियर एमआइसी मेंबर श्रीकुमार मेनन ने आयुक्त को जानकारी दी । इसके बाद टैंकर से कुछ इलाकों में पानी की सप्लाई की गई ।

तिलक नगर में बहाल हुई सुविधा, पर एक टंकी बाकी

दिन भर की मशक्कत के बाद तिलक नगर टंकी को शाम तक चालू करवा गया है। लेकिन प्रभात टॉकीज वाली टंकी के लिए अभी तक पेयजल की पाइप लाइन नहीं सुधर पाई है। सुबह पानी मिलेगा या नहीं इसके लिए कुछ कहा नहीं जा सकता है। पेयजल पाइप लाइन फूटने पर यहां एमआइसी मेंबर श्रीकुमार मेनन, जोन एक के अध्यक्ष डॉ. अन्नू साहू, पार्षद रामदास कुर्रे ने मौके पर पहुंचकर पेयजल की पाइप को सुधरवाया।

निगम कमिश्नर ने ठोका पीडब्ल्यूडी पर जुर्माना

नगर निगम कमिश्नर ने पेयजल प्रभावित होने पर मामले को गंभीरता से लिया है। उन्होंने पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों को पेयजल पाइप सुधारने के निर्देश तो दिये ही साथ ही मामले में जितना खर्च हुआ है उतना वसूलने का भी निर्देश दिया है। गौरतलब है कि शहर में आए दिन सरकारी या गैर सरकारी विभाग केबलिंग या निर्माण कार्य कर रहे हैं। अक्सर पेयजल पाइप प्रभावित होने की घटना होने से लोगों को परेशानी उठानी पड़ती है।

वर्जन

कार्रवाई होनी चाहिए

ठेकेदार कंपनी की लापरवाही है। पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों की लापरवाही से रविवार को लाखों लोगों को पेयजल से प्रभावित होना पड़ा है। केबल डालने वालों और इस तरह लापरवाही करने वालों पर कार्रवाई होनी चाहिए। - श्रीकुमार मेनन, एमआइसी मेंबर,नगर निगम रायपुर

-----

जुर्माना ठोका गया है

- पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों को जुर्माना लगाया गया है। जितना खर्च पाइप लाइन पर हुआ उतना वसूला जाएगा। जवाब-तलब किया जा रहा है। लोगों की सुविधा बहाल हो गई है। - रजत बंसल , कमिश्नर नगर निगम रायपुर

----- -