रायपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

मानसिक रूप से अविकसित बालिकाओं के एक आश्रय गृह में एक वर्षीय बालिका के साथ संस्था में कार्यरत फिजियोथेरेपिस्ट द्वारा अनाचार के मामले में जांच तेज हो गई है। इस घटना की गंभीरता और संवेदनशीलता को देखते हुए दण्डाधिकारी जांच के लिए अपर कलेक्टर की अध्यक्षता में जांच समिति गठित की गई है। दण्डाधिकारी जांच समिति के अध्यक्ष अपर कलेक्टर आशुतोष पाण्डेय ने कहा है कि इस घटना के संबंध में किसी भी व्यक्ति के पास कोई भी जानकारी हो तो वे अपना साक्ष्य दण्डाधिकारी जांच समिति के समक्ष 19 मार्च को पूर्वान्ह 11 बजे कलेक्टर कार्यालय के कक्ष क्रमांक-12 में उपस्थित होकर प्रस्तुत कर सकते हैं।