रायपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

लोक निर्माण विभाग के मटेरियल सप्लाई और मेंटेनेंस वर्क में बड़ा फर्जीवाड़ा फूटने के बाद पुलिसिया कार्रवाई लटक गई है। पीडब्ल्यूडी से अधूरे दस्तावेज मिलने के बाद अब सिविल लाइन थाना पुलिस ने सीधे बैंक को पत्र लिखकर सत्यापित प्रतियां लेने कवायद तेज की है। टीआइ मोहसीन खान ने बताया कि छुट्टी के दिन अधिकृत जानकारियां नहीं मिली है। सोमवार को पत्र लिखकर एफडीआर के संदर्भ में जानकारी मांगी जाएगी। तथ्यों का मिलान कर जुर्म दर्ज किया जाएगा। सिविल लाइन थाना में शुक्रवार को शिकायत दर्ज कराई गई थी, लेकिन मामले में जुर्म दर्ज नहीं हो सका। आश्वी इंजीनियरिंग पर फर्जीवाड़ा करने का आरोप है। विभागीय अफसरों ने बोगस एफडीआर का मामला फूटने के बाद पुलिस कार्रवाई के लिए आवेदन दिया है। बैंक ने करीब पांच एफडीआर को बोगस घोषित किया है, लेकिन इसकी प्रतियां थाने में की गई शिकायत में संलग्न नहीं है। पुलिस अधूरे दस्तावेज के चलते कार्रवाई प्रभावित होने की बात कह रही है। लोक निर्माण विभाग के अफसर कह रहे हैं कि एफडीआर के सत्यापन के लिए बैंक से जानकारी मांगी जा रही है।