रायगढ़। नईदुनिया प्रतिनिधि

जिले भर में चोरी की वारदात में लगातार इजाफा हो रहा था, जिसमे रिहायशी व व्यस्तम मार्ग में भी अछूते नही थे। चोरों को दबोचने के लिए जिला पुलिस कप्तान के दिशा निर्देश पर शहर के सभी थाना प्रभारियो को संदिग्धों की धरपकड़ व निगरानी रखे जाने की हिदायत दी गई थी। जिसका प्रतिसाद चक्रधर नगर पुलिस को मिला, जिसमे तीन चोरों से 11 मोटरसाइकिल बरामद किया गया। इस महती सफलता का खुलासा कंट्रोल रूम में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक व नगर पुलिस अधीक्षक व चक्रधर नगर पुलिस टीम की मौजूदगी में किया गया।

इसी क्रम बताया गया की क्षेत्र मे लगातार मोटरसाइकिल की चोरी हो रही थी। उक्त चोरी की वारदात पर चक्रधर नगर टीआई ने संजीदगी से लेते हुए संदिग्ध लोगों पर पुलिस जवानों को निगरानी रखने व मुखबिरो का जाल बिछाया गया था। पुलिस रिकार्ड में निगरानी चोर अलग अलग मोटरसाइकिल में घूमने की सूचना मिली। चोर के घूमने की सूचना पर चक्रधर नगर पुलिस फौरन हरकत में आ गई और उमेश जोल्हे को पंजरी प्लांट,हिरासत में लेकर पूछताछ करने लगी जिसमे उसके कब्जे से 4 बाइक बरामद किया गया। उसके निशानदेही पर उसके साथ वारदात में शामिल दो शातिर चोर राधेश्याम एवं भूपेंद्र शर्मा को बोईरदादर एवं बेलादुला से गिरफ्तार किया गया । तीनो बाइक चोर से 11 विभिन्न कम्पनियों का मोटरसाइकिल लगभग 4 लाख रुपये का बरामद किया गया। पुलिसिया पूछताछ ज्ञात हुआ कि आरोपी मास्टरमाइंड राधेश्याम व उमेश जोल्हे जेलमें चोरी की वारदात का तानाबाना बुना था। वही तीनो कोरबा, जांजगीर चाम्पा व रायगढ़ में अलग अलग स्थानों पर चोरी की वारदात को अंजाम देना बताये। बहरहाल पुलिस ने तीनों आरोपियों पर धारा धारा 379 के तहत रिमांड में भेजा है।

मास्टरमाइंड भूपेंद्र 100 बाइक चोरी पर जा चुका है जेल

वारदात का पर्दाफाश करते हुए अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अभिषेक वर्मा ने बताया कि मास्टरमाइंड आरोपी भूपेंद्र शर्मा रायगढ़ उड़ीसा के विभिन्न जिलों से मोटरसाइकिल चोरी करने के मामले में जेल की हवा खा चुका है। यहां यह बताना लाजमी होगा कि तत्कालीन क्राइम ब्रांच की टीम ने भूपेंद्र शर्मा से 100 से अधिक मोटरसाइकिल बरामद की थी। उक्त चोरी खा खुलासा डेढ़ दशक में रिकर्ड बनाकर जिला पुलिस के डायरी में मौजूद है।

उमेश और भूपेंद्र जेल में मिले और बनाये प्लान

इस वारदात में पुलिसिया पूछताछ में चौकाने वाले तथ्यों का खुलासा हुआ जिस में जेल में बंद उमेश जोल्हे है मास्टरमाइंड चोर भूपेंद्र शर्मा से जिला जेल में मुलाकात हुई। दोनों जब जेल में बैरक के बाहर मिलते थे तो चोरी की वारदात पर चर्चा करते थे वही चोरी की बाइक कैसे खपाना है, किस तरह चोरी की करना है, कहा से करना है । देखा जाए तो मास्टरमाइंड भूपेंद्र शर्मा पूर्व में भी जेल जा चुका था वही उमेश भी चोरी के मामले में निरुद्ध था।

आरोपियो को पकड़ने के बाद एएसपी ने थपथपाई पीठ

मोटरसाइकिल चोरी कांड में उमेश जोल्हे पिता बाबूलाल जोल्हे उम्र 29 वर्ष सारंगढ़ थाना क्षेत्र ग्राम उलखर निवासी, राधेश्याम बरेट पिता तुलेश्वर बरेट उम्र 28 वर्ष जिला जांजगीर चांपा थाना शक्ति ग्राम हरदा निवासी, पूरी वारदात का मास्टरमाइंड भूपेंद्र शर्मा पिता श्यामवीर शर्मा उम्र 45 वर्ष कोटर थाना क्षेत्र ट्रांसपोर्ट नगर पतरापाली निवासी है। वारदात में शामिल टीआई एवं उनकी टीम की अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ने तारीफ करते हुए पीठ थपथपाई है। शहर में लगातार चोरी की वारदात के बाद यह कार्रवाई एवं पुलिस अधिकारियों की हौसलाअफजाई से पुलिसकर्मियों का मनोबल बढ़ेगा।