रायगढ़। सोमवार सुबह कलमी रेलवे ट्रैक पर एक महिला और एक पुरुष की लाश मिली थी, जिसमें पुलिस व स्थानीय लोगो द्वारा कई तरह के कयास लगाए जा रहे थे। इस बीच तरह तरह के चर्चा का दौर भी चल पड़ा था जिसमें लोगो द्वारा लगाए गए कयास पूरी तरह से सच साबित हुई जिसमें महिला व पुरुष शादीशुदा होने के बावजुद प्रेमी जोड़े थे। जिसका खुलासा शिनाख्त होने के बाद हो पाई है।

वही उनकी पहचान पुलिस के लिए चुनौती बनी हुई थी। जिस पर पुलिस की अथक प्रयास के बाद उनकी पहचान रुपलाल जांगड़े (40 वर्ष) निवासी पतरापाली और किरोड़ीमल निवासी महिला सरस्वती सिदार (40 वर्ष) के रूप में हुई है। पुलिसिया पूछताछ के दौरान पता चला कि यह दोनों एक प्रेमी जोड़े थे वही दोनों शादीशुदा भी थे।

मृतक रूपलाल की पहचान लगभग दो वर्ष पूर्व महिला से एक साथ कामकाज के दौरान हुई थी। इस बीच बातचीत का सिलसिला चलता रहा और घर गृहस्थी छोड़ दोनों का प्रेम परवान चढने लगा। दोनों अकसर छुप छुपकर मिलते भी थे।

वही मृतक व मृतिका दोनों माह भर पहले इश्क के चंगुल में फंसकर अपने अपने परिवार व बच्चे को छोड़ कर भाग गए थे। जिसके बाद शनिवार को एक माह बाद घर गए थे, जिस पर समाज व घर वालोंं ने दोनों के परिवार वालो ने उन्हें इस कृत्य पर काफी खरी खोटी सुनाने के बाद उन्हें खदेड़ दिए जिसके बाद दोनों ने शनिवार की रात मौत को गले लगाकर अपनी प्रेम कहानी व जीवन लीला को समाप्त कर दिए।

रासलीला नही आई परिजनों को रास

मृतक महिला व पुरूष एक दूसरे से प्रेम प्रसंग के बीच दोनों अपने परिवार को भुला दिए थे। इसकी चर्चा गांव व दोनों के परिवार के साथ साथ सामाज को भी नागवार थी। वही इस कारण परिवारिक खटास भी आने लगी थी। जो समय के साथ यह रिश्ता प्रांगड़ हो रहा था तो दूसरी तरफ यह रिस्ता परिजनों को रास नही आ रही थी।

इसके अलावा दोनों के बच्चे भी काफी बड़े और इन सम्बंध के बारे में भलीभांति अवगत भी हो रहे थे। घटना से पूर्व दोनों घर गए जहां मृतक के परिवार वालो ने उन्हें भागा दिया। सम्भवतः इस कारण ही दोनों ने यह कदम उठाया है।