रायपुर। गलत तरीके से बीमा कंपनी का पैसा निकालने वालों को गिरफ्तार कर सोमवार को मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी आशीष कुमार पाठक की अदालत में पेश किया गया। अदालत ने पुलिस की मांग पर दोनों आरोपियों रवि जैन और राजेन्द्रन को दो दिन की पुलिस रिमांड दी है।

मिली जानकारी के अनुसार आरोपी रवि जैन तेन्दूपत्ता कारोबारी है। दि न्यू इंडिया इंश्योरेंस से क्लैम स्वीकृत हुए बिना आरोपी रवि जैन और दि न्यू इंडिया इंश्योरेंस कंपनी के प्रशासनिक अधिकारी ने फर्जीवाड़ा करके लगभग 23 लाख रुपए निकाल लिए। पहले चेक में 22 लाख 74 हजार 861 रुपए और दूसरे चैक से 86,945 रुपए बैंक से निकाला गया। जब तीसरे चेक को भुनाने के लिए कार्पोरेशन बैंक पहुंचे तो बैंक प्रबंधन को संदेह हुआ और उन्होंने बीमा कंपनी में फोन कर तस्दीक की तो पता चला कि कंपनी की ओर से कोई चेक जारी नहीं किया गया। तब मामले का खुलासा हुआ। बीमा कंपनी ने गोलबाजार थाने में इसकी शिकायत की। जहां सोमवार को आरोपी रवि जैन और राजेन्द्रन को गिरफ्तार कर अदालत में पेश किया गया, जहां 2 फरवरी तक के लिए पुलिस रिमांड पर भेजने का आदेश दिया गया।