रायपुर। शहर के 11 वीं क्लास के विद्यार्थी अनमोल राठी ने अपने टैलेंट का लोहा मनवाया है। 16 से 21 जून तक न्यूयार्क के अस्विगो सिटी में हुए इंटरनेशनल जीनियस ओलंपियाड का आयोजन किया गया था, इसमें अनमोल राठी ने अपने पार्टनर हर्ष अग्रवाल के साथ हिस्सा लिया। इस ओलंपियाड में लगभग 73 देशों के 1500 छात्र-छात्राओं के माध्यम से 789 प्रोजेक्ट्स आए थे।

भारत से 5 टीमों ने हिस्सा लिया था, जिसमें केवल रायपुर की इस टीम को साइंस मॉडल केटेगिरी में गोल्ड मेडल मिला। इन्होंने पैंक्रिएटिक कैंसर डिटेक्ट करने के लिए मॉडल बनाया।

इस डिवाइस के जरिये पहली बार टेस्टिंग किट में सलाइवा का इस्तेमाल किया जाएगा। इस से बड़ी ही आसानी से, कम खर्चे में और शुरुवाती स्टेज में ही पैंक्रिएटिक कैंसर का पता चल जाएगा, जो कि वर्तमान में एक मुश्किल प्रोसेस है। हर्ष के अनुसार इस डिवाइस को बनाने में उन्हें 3 से 4 महीने का समय लगा।

इससे पहले अनमोल राठी को सीएसआईआर अवार्ड, फाउंडेशन फार ग्लोबल साइंस इनिसिएटिव में गोल्ड अवार्ड, आईआईटी मुम्बई में फर्स्ट प्राइज, आईआईटी कानपुर में गोल्ड आवर्ड मिल चुके हैं। अनमोल और उनके पिता इन्द्रगोपाल राठी सारड़ा एनर्जी एंड मिनरल्स लिमिटेड में डीजीएम हैं और माता पूजा राठी कंप्यूटर साइंस की प्रोफेसर हैं। अनमोल ने अपने सफलता का श्रेय अपने माता-पिता और अपने शिक्षक और मेंटर सुशील कुमार पांडेय को दिया है।