रायपुर, नईदुनिया राज्य ब्यूरो। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के खिलाफ रविवार को एफआईआर कराने के लिए जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के प्रदेश अध्यक्ष अमित जोगी सिविल लाइन थाना पहुंचे। उन्होंने आरोप लगाया कि उनकी मां व वरिष्ठ विधायक डॉ. रेणु जोगी पर बयानबाजी करके मुख्यमंत्री ने उनके चरित्र हनन का घिनौना प्रयास किया है। इस पर कांग्रेस ने कहा है कि अमित जोगी ने अपनी राजनैतिक महत्वाकांक्षाओं को पूरा करने के लिए निर्लज्जता की सारी सीमाएं लांघ दी है। उन्होंने मुख्मयंत्री से दो सवाल पूछे हैं कि क्या 14 जून को दिल्ली में बंद कमरे में उनसे अडानी समूह के लोग उनसे नहीं मिले? दूसरा, मुख्यमंत्री से डॉ. रेणु जोगी की क्या बातचीत हुई? इन दोनों बातों का खुलासा करें।

जोगी का कहना है कि बघेल ने यह बयान देकर उनकी मां के चरित्र हनन का प्रयास किया है, कि उनकी और डॉ. रेणु जोगी की एकांत में बातचीत हुई थी, क्या उसे भी वे सार्वजनिक करें? जोगी ने इस बयान पर मुख्यमंत्री को माफी मांगने के लिए कहा है। इस पर प्रदेश कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला का कहना है कि अमित जोगी ने राजनैतिक आरोप-प्रत्यारोप लगाने में अपनी मां के सम्मान तक को नहीं बख्शा। मुख्यमंत्री के शालीनतापूर्वक दिए गए बयान को अमित जोगी ने जिस ढंग से प्रस्तुत करने की कोशिश की है, वह घटिया मानसिकता और राजनैतिक अपरिवक्ता को दर्शाता है।