रायपुर। हम और आप अपने घर में टूटी-फूटी बाल्टियां, प्लास्टिक के मग, तेल की शीशी समेत हर वो आइटम जिसे कबाड़ समझकर फेंक देते हैं, दरअसल उन सबसे भी बेहद आकर्षक स्ट्रक्चर तैयार हो सकते हैं। इतने आकर्षक कि बाजार में पैसा देकर भी नहीं मिल पाएगा।

बशर्ते इसे तराशने के लिए हुनरमंद हाथ होने चाहिए। ऐसे एक नहीं सैकड़ों कलाकार हैं जो 'कबाड़ से जुगाड़' कर संदेश देने वाले स्ट्रक्चर को आकार देते हैं। इन्हीं सबको नगर निगम रायपुर मंच दे रहा है।

आप बहुत जल्द शहर के अंदर उड़ती हुई चिड़िया को कचरा से भरी डस्टबिन उड़ाकर ले जाते, कचरा बाल्टी से गिरते स्ट्रक्चर देखेंगे। आपको पता ही नहीं चलेगा कि ये सब कबाड़ से बने हैं। निगम मुख्यालय के बेसमेंट में कलाकार कबाड़ को आकार देने में जुटे हैं।

'नईदुनिया' को जानकारी देते हुए एड-फैक्टर कंपनी की रिप्रजेंटेटिव देवजानी दास ने बताया कि अभी ये शुरुआत है, जिस दिन ये बनकर तैयार हो जाएंगे आप देखते रह जाएंगे। शहर के 50 से अधिक जगहों पर ये स्ट्रक्चर लगाए जाने हैं। 12 जनवरी को युवा उत्सव के दिन इंडोर स्टेडियम में आयोजित होने वाले कार्यक्रम में पहली स्ट्रक्चर का उद्घाटन होगा।

लाभांडी से कलाकारों ने जुटाया कबाड़

जानकारी के मुताबिक कलाकारों ने खुद लाभांडी में जाकर कचरे के ढेर से उन चुनिंदा सामग्रियों को खोजा, जिन्हें वे आकार दे सकते हैं। इन सभी को निगम मुख्यालय में लाकर इनमें जान फूंकी जा रही है। पहले कभी रायपुर में इस तरह का प्रयोग नहीं किया गया।

आप भी लें सीख-

कबाड़ से जुगाड़ मुश्किल नहीं है, सिर्फ आपको दिमाग दौड़ाने की जरूरत है। अगर दिमाग न भी लगा पाएं तो इंटरनेट पर तमाम ऐसे वीडियो हैं, जिनमें ऐसे स्ट्रक्टर दिखाई देते हैं। आप भी इन्हें बना सकते हैं।

ये ऑर्टिस्ट आएंगे-

19-21 जनवरी तक रायपुर में कचरा महोत्सव का आयोजन होने जा रहा है। इसमें देश-प्रदेश के नामी कलाकार हिस्सा ले रहे हैं। इनमें प्रमुख हैं- संदीप राजपूत, प्रमोद साहू, सरस्वती, बंच ऑफ फूल, डी-बारवी रॉक, लोक बैंड।