रायपुर। छत्तीसगढ़ में कोटा सीट से विधायक डॉ. रेणु जोगी के आवेदन पर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल का कहना है कि उनके आवेदन को स्वीकार करें या नहीं, यह ब्लॉक अध्यक्ष का अधिकार है। मुझे तो यह पता भी नहीं है कि किसने दावेदारी की है और किसने नहीं।

रेणु जोगी कोटा विधानसभा सीट से ही दावेदारी कर रही हैं। केंद्रीय स्क्रीनिंग कमेटी और प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने यह तय किया था कि दावेदार को खुद जाकर ब्लॉक अध्यक्ष को आवेदन देना है।

पार्टी सूत्रों के अनुसार, डॉ. रेणु जोगी ने अपने एक समर्थक के हाथ से ब्लॉक अध्यक्ष को आवेदन भिजवाया था। ब्लॉक अध्यक्ष ने पहले तो आवेदन लेने से मना किया, लेकिन कुछ देर बाद उन्होंने रेणु जोगी के आवेदन पर पीसीसी से सुझाव लेने का टीप लिखकर अपने पास रख लिया। मतलब, रेणु जोगी का आवेदन अभी स्वीकार हुआ है या नहीं?

इस पर संशय की स्थिति है। पार्टी सूत्रों के अनुसार रेणु जोगी को किसी भी तरह से टिकट न मिले, इसके लिए पार्टी के ज्यादातर नेता सक्रिय हैं। इस कारण रेणु जोगी की लगातार अनदेखी की जा रही है। रेणु जोगी ने भी पार्टी में अपनी सक्रियता लगभग खत्म कर ली है। लंबे समय से पार्टी के कार्यक्रमों और अन्य गतिविधियों में उनकी उपस्थिति नहीं दिख रही है।

महंत ने नहीं की दावेदारी

दावेदारों को एक अगस्त से सात अगस्त तक आवेदन देना था। हालांकि, आठ अगस्त को भी मनेंद्रगढ़ सीट से पीसीसी सदस्य अशोक श्रीवास्तव ने आवेदन जमा किया। अभी पीसीसी भी स्पष्ट नहीं कर रही है कि दावेदारों का आवेदन लिया जाना है या नहीं। चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत ने अब तक आवेदन जमा नहीं किया है। इस कारण उनके समर्थक और पार्टी के दूसरे नेता यह मानकर चल रहे हैं कि महंत विधानसभा चुनाव नहीं लडेंगे। चुनाव अभियान की जिम्मेदारी संभालेंगे।