रायपुर (स्टेट ब्यूरो)। छत्तीसगढ़ में भाजपा की चौथी पारी की नैया केंद्रीय नेताओं के भरोसे पार करने की तैयारी चल रही है। पहले भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के अंबिकापुर दौरे से आदिवासी नेताओं को साधने की कोशिश की गई। अब भिलाई में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सभा में ओबीसी वोट बैंक को साधने की कोशिश की जा रही है।

दरअसल, पार्टी के केंद्रीय नेता मिशन 2019 को ध्यान में रखकर प्रदेश का दौरा कर रहे हैं। यही कारण है कि पिछले दो महीने में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दो बार, राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह एक बार और केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह एक बार प्रदेश का दौरा कर चुके हैं। भाजपा के उच्च पदस्थ सूत्रों की मानें तो अब छत्तीसगढ़ में केंद्रीय मंत्रियों का तांता लगने वाला है। अभी जून और जुलाई में ही एक दर्जन केंद्रीय मंत्रियों का प्रवास होगा।

भाजपा प्रदेशाध्यक्ष रमलाल कौशिक ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के छत्तीसगढ़ प्रवास से प्रदेश की प्रगति को और बल मिलेगा। उनका प्रवास छत्तीसगढ़ के विकास में मील का पत्थर साबित होगा। उन्होंने कहा कि मोदी के प्रवास से छत्तीसगढ़ का जनमानस उत्साहित है। उनका छत्तीसगढ़ के प्रति विशेष लगाव है। तभी आयुष्मान भारत जैसे महती योजना का शुभारंभ बस्तर के सुदूर अंचल से किया और अब भिलाई स्टील प्लांट का विस्तारीकरण की नवीन परियोजनाओं को राष्ट्र को समर्पित करेंगे।

कौशिक ने कहा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केन्द्र सरकार निर्णायक संवेदनशील, पारदर्शी व भ्रष्टाचार मुक्त सरकार साबित हुई है। उनके नेतृत्व में वैश्विक स्तर पर देश का मान बढ़ा है और अर्थ व्यवस्था भी मजबूत हुई है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री के दो महीने के भीतर पुनः प्रवास व राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के दौरे से सभी कार्यकर्ताओं का मनोबल मजबूत हुआ है।

प्रदेश के नेता कमजोर हुए, इसलिए केंद्रीय नेतृत्व सक्रिय - कांग्रेस

कांग्रेस के संचार विभाग के प्रमुख शैलेष नितिन त्रिवेदी ने भाजपा के केंद्रीय नेताओं के दौरे पर निशाना साधते हुए कहा कि प्रदेश भाजपा नेतृत्व से जनता का भरोसा उठ गया है, इसलिए अब केंद्रीय नेताओं को बार-बार दौरा करना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भिलाई दौरे का कोई असर नहीं पड़ने वाला है। पिछले विधानसभा चुनाव में मोदी ने बालोद और धमतरी में सभा की थी, वहां भाजपा को हार मिली। लोकसभा चुनाव में भी दुर्ग में हार मिली। जबकि कांग्रेस का दुर्ग संभाग में मजबूत नेतृत्व है। कांग्रेस के राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष मोतीलाल वोरा, प्रदेश अध्यक्ष भूपेश बघेल, पूर्व नेता प्रतिपक्ष रविंद्र चौबे और युवा महापौर देवेंद्र यादव के नेतृत्व में कांग्रेस मजबूत हुई है।

भाजपा-कांग्रेस के टूरिस्ट नेताओं का दौरा - अमित

छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस के नेता और मरवाही विधायक अमित जोगी ने कहा कि कांग्रेस और भाजपा के पास स्थानीय स्तर पर दमदार नेतृत्व नहीं है। यही कारण है कि दोनों पार्टियां टूरिस्ट नेताओं के भरोसे हैं। ये नेता प्रदेश में सिर्फ घूमने आ रहे हैं। अमित ने सवाल किया कि पिछले चार साल में ये नेता यहां क्यों नहीं आए। अब चुनाव आया है, तो उनको छत्तीसगढ़ की याद आ रही है। प्रदेश की जनता टूरिस्ट नेताओं को कभी स्वीकार नहीं करेगी।