रायपुर (राज्य ब्यूरो)। नक्सली प्रचार अभियान पर केंद्र सरकार ने डंडा चलाया है। केंद्र सरकार ने नक्सलियों की वेबसाइट बैंड थाट डॉट कॉम को बंद करा दिया है। इस वेबसाइट में नक्सली प्रमुख घटनाओं को अपनी बहादुरी के रूप में प्रस्तुत करते थे। माओवादी विचारधारा से संबंधित सामग्री अपलोड करते थे।

माओवादी विचारों से लोगों को प्रेरित करने के लिए माओवादी लगातार इस वेबसाइट को अपडेट करते थे। भारत सरकार के दूरसंचार विभाग के निर्देश पर इस वेबसाइट के यूआरएल को ब्लॉक कर दिया गया है। गत कई वर्षों से संचालित इस वेबसाइट में दुनिया भर के माओवादी संगठनों से संबंधित सामग्री उपलब्ध कराई जा रही थी। इसमें माओवादियों की पिछले कई सालों की विज्ञप्तियां उपलब्ध थीं। भारत में नक्सल आंदोलन के संस्थापकों में से एक चारू मजूमदार के कई लेख इस वेबसाइट पर उपलब्ध कराए गए थे। दुनिया के अलग-अलग देशों में माओवाद के इतिहास सं संबंधित हजारों शोधपत्र इसमें शामिल थे। सीपीआई माओवादी पार्टी के संबंध में अलग खंड इस वेबसाइट पर उपलब्ध था।

पुलिस अफसरों के मुताबिक अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का हवाला देकर इस वेबसाइट के माध्यम से नक्सल विचारधारा का प्रचार प्रसार किया जा रहा था। इसमें नक्सली हिंसा से संबंधित कई ऑडियो और वीडियो अपलोड किए गए थे इसीलिए सरकार को इस वेबसाइट को बंद करने का निर्णय लेना पड़ा। इस वेबसाइट का डोमेन ब्रिटिश कोलंबिया, कनाडा से बुक किया गया था। 23 दिसंबर 2007 को रजिस्टर्ड इस वेबसाइट को अंतिम बार 17 दिसंबर 2018 को अपडेट किया गया था।