रायपुर। चेंबर ऑफ कामर्स के चुनाव के बाद से ही शुरू हुए पदाधिकारियों का विवाद अब खुलकर सामने आ गया है। संगठन के प्रदेश अध्यक्ष जितेंद्र बरलोटा ने इन विवादों को देखते हुए अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। इसकी पुष्टि भी खुद बरलोटा ने कर दी है। हालांकि वे अभी कुछ भी खुलकर बोलने से इंकार कर रहे हैं।

उनका कहना है कि जब समय आएगा तो वे अपनी सारी बात सामने रखेंगे। कुछ महीनों पहले ही छत्तीसगढ़ चेम्बर ऑफ कॉमर्स के उपाध्यक्ष ने सोशल मीडिया पर ही पदाधिकारियों को धमकी दी है और कहा है कि वे चेम्बर में चल रही गतिविधियां मीडिया के सामने भी लाएंगे।

कुछ दिनों पहले भी पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दाम को लेकर कांग्रेस ने भारत बंद बुलाया था, जिसे छत्तीसगढ़ चेंबर ऑफ कामर्स ने समर्थन किया था। सूत्रों के मुताबिक चेंबर अध्यक्ष के समर्थन के फैसले से भाजपा से जुड़े चेंबर के कई पदाधिकारी नाराज थे। यह इस्तीफा इसी की परिणीति माना जा रहा है।